डॉयल करें '104' नंबर और पाएं मुफ्त में इलाज

  • डॉयल करें '104' नंबर और पाएं मुफ्त में इलाज
You Are HereNational
Tuesday, February 25, 2014-1:14 PM

भोपाल: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में मोबाइल मेडिसिन, टेली-मेडीसिन और डॉयल 104 चिकित्सा सेवा का कल यहां मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र की उपस्थिति में परीक्षण किया गया। इस अवसर पर डॉ. मिश्र ने एम्स की विभिन्न शाखाओं का अवलोकन भी किया तथा विभिन्न शाखाओं की कार्य-प्रणाली की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने प्रशासनिक भवन सहित टेली-मेडिसिन, वीडियो कान्फ्रेंसिंग कक्ष का भी निरीक्षण किया।

 

स्वाथ्य मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि विभाग की 100 दिवसीय कार्य-योजना में मोबाइल मेडिसिन, टेली-मेडिसिन और डायल 104 के तहत सेवाओं के एकीकरण एवं विस्तार का महत्वपूर्ण बिन्दु शामिल हैं। इस सेवा में सभी को घर पर मोबाइल के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी विशेषज्ञ चिकित्सा परामर्श मुहैया कराई जाएगाी रोगियों को मोबाइल पर औषधि के संबंध में आवश्यक प्रिसक्रिप्शन उपलब्ध करवाने का भी प्रावधान है। डॉ. मिश्र ने कहा कि इसके अलावा मोबाइल मेडिसिन द्वारा चिकित्सकीय परामर्श की सुविधा भी दी जाएगी। यह योजना कम खर्चीली है और इससे मरीज के संस्था में आने-जाने वाले समय को भी कम किया जा सकेगा।

 

टोल फ्री नंबर 104 को आसानी से कहीं से भी डॉयल कर परामर्श प्राप्त करना संभव होगा। उन्होंने कहा कि मरीज को मोबाइल पर प्राप्त ‘प्रिसक्रिप्शन’ के अनुसार सरलता से घर के नजदीकी सरकारी अस्पताल से मुफ्त दवा मिल सकेगी। दूरस्थ ग्रामों के रोगियों को इसका विशेष लाभ मिल सकेगा।

 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि शीघ्र ही इस सेवा का लाभ रोगियों को मिलने लगे, इसके लिए की जा रही व्यवस्थाओं को शीघ्र पूरा किया जाए और भोपाल में इस सेवा के प्रारंभ होने के बाद अन्य जिलों में भी इसका विस्तार किया जाए। इस अवसर पर एम्स के निदेशक डॉ. संदीप कुमार ने स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मिश्र को एम्स में रोगियों की सुविधा के लिए शुरू की जा रही नई व्यवस्थाओं की विस्तार से जानकारी दी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You