अरुण जेटली ने सरकार पर लगाया आरोप

  • अरुण जेटली ने सरकार पर लगाया आरोप
You Are HerePolitics
Thursday, February 27, 2014-7:30 PM

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वह नियमों और प्रक्रिया की अनदेखी कर चुनाव से पहले हड़बड़ी में लोकपाल पैनल में नियुक्ति करने पर आमादा है।

जेटली ने आज अपने लेख में लिखा है कि भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए देश को 46 वर्ष बाद लोकपाल जैसी संस्था मिलने जा रही है और इसके लिए महज जगहों को भरने के बजाय योग्य व्यक्तियों का चयन किया जाना जरूरी है। लोकपाल पैनल की नियुक्तियों में सर्वानुमति एक बहुत बड़ा मानदंड है जिसकी अनदेखी की जा रही है।

उन्होंने लिखा है कि ऐसा लगता है कि सरकार चुनाव से पहले लोकपाल पैनल के न्यायिक और गैर न्यायिक सदस्यों की नियुक्ति हड़बड़ी में करने पर आमादा है। इसके लिए वह पूरी प्रक्रिया नहीं अपना रही है और नियमों की अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा है कि सरकार ने खोज समिति में अपने अधिक से अधिक सदस्य नियुक्त करने की ठान ली है। सरकार द्वारा इसके लिए सुझाए जा रहे नामों में कुछ सरकारी वकीलों के भी नाम हैं। उन्होंने कहा कि इन नामों के लिए लोकसभा में विपक्ष की नेता की सहमति नहीं है।

जेटली ने लिखा है कि सरकार को यह समझना चाहिए कि कोई भी संस्था किसी एक राजनीतिक दल से नहीं जुड़ी होती। निष्पक्ष और विश्वसनीय संस्था व्यवस्था के लिए बेहतर होती है। खोज समिति में अपने ‘परिचित नामों’ को रखना संस्था के हित में नहीं है। उन्होंने लिखा है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने सीबीआई, कैग, पीएसी, जेपीसी और सीवीसी जैसी संस्थाओं को काफी नुकसान पहुंचाया है लेकिन मुझे उम्मीद है कि लोकपाल इससे बच सकता है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You