‘राजद का अस्तित्व ही अब खतरे में’

  • ‘राजद का अस्तित्व ही अब खतरे में’
You Are HereNational
Thursday, February 27, 2014-7:54 PM

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता प्रो.असलम आजाद ने आज कहा कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद)में आयी दरार से पार्टी का अस्तित्व ही खतरे में पड़ गया है। प्रो.आजाद ने यहां कहा कि राजद में दरार के कारण लालू प्रसाद यादव के पांव के नीचे से पूरी जमीन ही खिसक गयी है। उन्होंने कहा कि राजद के छह मुस्लिम विधायकों में से पांच का पार्टी से अलग होकर समूह बनाने के फैसले ने यादव का चेहरा बेनकाब कर दिया है।

अब भले ही वह नौ विधायकों को डरा धमका कर अपने खेमे में वापस लाने में कामयाब हो गये हैं लेकिन इससे पार्टी पर उनकी कमजोर होती पकड़ भी साफ नजर आ रही है। जदयू के पूर्व विधान पार्षद ने कहा कि राजद और कांग्रेस अब तक साम्प्रदायिकता का खौफ दिखाकर मुसलमानों का भावनात्मक शोषण करती रही है और उसे वोट बैंक से ज्यादा कुछ नहीं समझा। उन्होंने कहा कि मुसलमान अब समझ गये है कि साम्प्रदायिक शक्तियों से मुकाबला और उनका विकास नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही हो सकता है। इसलिए राज्य के 18 प्रतिशत मुसलमान अब 12 प्रतिशत वाली एक जाति विशेष की गुलामी करने को तैयार नही हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You