शुद्ध देशी घी लिखने की जरूरत क्यों : मोदी

  • शुद्ध देशी घी लिखने की जरूरत क्यों : मोदी
You Are HereNcr
Friday, February 28, 2014-12:00 AM
नई दिल्ली(धनंजय कुमार): भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी वीरवार को देश के व्यापारियों को व्यापार के नए विजन के साथ नैतिकता का पाठ भी पढ़ा गए। 
 
कांफिडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के तत्वावधान में दिल्ली के सिरीफोर्ट सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में मोदी ने केंद्र में भाजपा की सरकार बनने पर कर व कानूनी नीति में बदलाव समेत नए तरह की व्यापारिक नीतियों को लागू करने का भरोसा दिया तो दूसरी ओर इन्हें पारदॢशता से कर चुकाने व मिलावटखोरी बंद करने की नसीहत भी दे दी।
 
उन्होंने कहा कि आज ऐसी स्थिति क्यों पैदा हो गई है कि सरकार और आयकर विभाग को सभी चोर नजर आते हैं। यदि आप लोग ईमानदारी से कर चुकाएंगे तो देश का ही भला होगा। कितनी शर्म की बात है कि आज दुकानों पर शुद्ध देशी घी की दुकान लिखने की जरूरत पड़ गई है। इससे तो साफ जाहिर होता है कि देश में मिलावटखोरी किस हद तक बढ़ गई है। 
 
मोदी ने कहा कि आपके सुझावों को हम अपने घोषणा-पत्र में शामिल करेंगे, ताकि सत्ता में आने पर उसे पूरा किया जाए। कांग्रेस पार्टी की सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार बनने पर हमारी सबसे बड़ी चुनौती 60 साल के गड्ढे को भरने की होगी। 
 
देश में नए कानून बनाने और पुराने कानून हटाने की वकालत करते करते हुए मोदी ने व्यापार को दूसरे देशों से संबंध बनाने का सबसे बढिय़ा जरिया बताया। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि इस देश में कानून का इतना जाल बिछा दिया गया है कि नया कानून बनाने के लिए पुराने कई कानून हटाने पड़ेंगे। 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You