मतदान का समय बढ़ाने के लिए लिखा पत्र

  • मतदान का समय बढ़ाने के लिए लिखा पत्र
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-12:29 AM
नई दिल्ली : पिछले साल हुए दिल्ली विधान सभा चुनाव में रिकॉर्ड तोड़ 67 फीसदी मतदान दर्ज होने के बाद अब दिल्ली चुनाव आयोग लोक सभा चुनाव में भी रिकॉर्ड तोड़ मतदान कराना चाहता है। आयोग ने इस बाबत भारतीय निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर वोटिंग का समय एक घंटा और बढ़ाने की मांग की है।
 
भारतीय निर्वाचन आयोग फिलहाल दिल्ली चुनाव आयोग की इस मांग पर गंभीरता से विचार कर रहा है और मार्च में इस मामले में अंतिम फैसला लिया जा सकता है। दिल्ली चुनाव आयोग के मुताबिक अभी तक चुनावों में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक या फिर सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक रखा जाता है लेकिन अब आयोग शाम 5 बजे की जगह मतदान का समय एक घंटा और बढ़ाकर इसे 6 बजे तक करने के मूड में है। 
 
आयोग का कहना है कि फिलहाल जो नियम है उसके मुताबिक अगर कोई मतदाता पोङ्क्षलब बूथ के भीतर शाम 5 बजे से पहले प्रवेश कर जाता है तो उसे वोट देने का पूरा अधिकार है। हालांकि शाम 5 बजते ही किसी भी मतदाता या व्यक्ति को पोङ्क्षलग बूथ में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाती। आयोग के अनुसार सुबह और दोपहर बाद सबसे ज्यादा प्रतिशत मतदान होता है। दोपहर को खाने का समय होने के कारण बहुत कम मतदाता अपने-अपने घरों से बाहर वोट डालने निकलते हैं। दिल्ली में पिछले साल हुए विधान सभा चुनाव में शाम 7.30 बजे तक मतदान चलता रहा था। शाम 5 बजे से कुछ क्षण पहले ही सैंकड़ों की संख्या में मतदाता पोङ्क्षलग बूथ के भीतर प्रवेश कर गए थे और वोट डालने के लिए लंबी कतारें लग गई थी। 
 
इसी कारण शाम 7.30 बजे तक वोट डलते रहे। आयोग का मानना है कि अगर वोट डालने का समय शाम 5 बजे से बढ़ाकर इसे 6 बजे तक कर दिया जाए तो मतदान के प्रतिशत में भारी बढ़ौतरी होगी। भारी संख्या में नौजवान शाम को वोट डालना पसंद करते हैं और मतदान के दिन छुट्टी होने के कारण लोग शाम को तैयार होकर बाहर घूमने जाते हैं। आयोग का कहना है कि पिछले कई चुनावों में अक्सर देखने में आया है कि दोपहर के समय सबसे कम वोटिंग होती है। शाम 4 बजे के बाद वोटिंग की गति रफ्तार पकड़ती है और अगर एक घंटे का समय और बढ़ा दिया जाए तो रिकॉर्ड मतदान होना निश्चित है।  
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You