बिना छुए नारियल बताता है आपका ब्लड ग्रुप

  • बिना छुए नारियल बताता है आपका ब्लड ग्रुप
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-1:35 PM

रायपुर: आपने ज्योतिषों और उनके पास पिंजरे में रखे तोतों को आपका भविष्य बताते तो देखा है लेकिन एक नारियल आपका भविष्य बताए, न तो ये आपने देखा होगा और न ही सुना होगा क्योंकि आमतौर पर नारियल सिर्फ मंदिरों में फोड़ने के काम आता है लेकिन कोई कहे कि यह आपका ब्लड ग्रुप बता सकता है तो सहसा इस बात पर यकीन नहीं होता लेकिन छत्तीसगढ़ के रायपुर में कृषि विभाग में कार्यरत बी.डी. गुहा ने नारियल से ब्लड ग्रुप पहचानने की तकनीक ईजाद की है। गुहा किसी भी व्यक्ति को बिना छुए महज 10 सेकेंड में ब्लड ग्रुप बता देते हैं।

 

गुहा का दावा है कि वे नारियल से जमीन के अंदर पानी का, भूमिगत सुरंगों की भी पहचान कर सकते हैं। साथ ही गुहा ने कहा कि वे इस बात पर अभी शोध कर रहे हैं कि विभिन्न ब्लड ग्रुप में नारियल अलग-अलग दिशा में क्यों मुड़ता है। चिकित्सा विज्ञान के अनुसार 8 ब्लड ग्रुप ए पॉजीटिव, ए निगेटिव, एबी पॉजीटिव, एबी निगेटिव, बी पॉजीटिव, बी निगेटिव, ओ पॉजीटिव और ओ निगेटिव होते हैं। गुहा ने कहा कि इनमें से 5 ब्लड ग्रुप ए पॉजीटिव, एबी पॉजीटिव, बी पॉजीटिव, ओ पॉजीटिव और ओ निगेटिव को वे नारियल से पहचान सकते हैं, बाकी तीन को लेकर अभी शोध कर रहे हैं क्योंकि इन तीनों ब्लड ग्रुप वाले लोगों की संख्या बहुत कम हैं, इसलिए इन्हें पहचानने में समय लग रहा है।

 

गुहा ने बताया कि इस पूरी शोध में उनकी मदद उनकी बेटी सोनाली, मोनाली और बेटा आयुष कर रहे हैं। उनके ये तीनों बच्चे कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग कर रहे हैं। वहीं गुहा के बच्चों ने कहा किउनको उम्मीद है कि नारियल अलग-अलग ब्लड ग्रुप में अलग-अलग दिशा में क्यों मुड़ता है इससे संबंधित वैज्ञानिक कारणों का पता जल्द ही लगा लेंगे। गुहा बताते हैं कि किसी भी व्यक्ति के सिर से थोड़ा ऊपर हथेली में नारियल लें। थोड़ी देर में नारियल अलग दिशा में मुड़ जाता है। ए पॉजीटिव ब्लड ग्रुप होने पर नारियल 45 डिग्री की पोजिशन लेता है। एबी पॉजीटिव में 45 से 55 डिग्री, बी पॉजीटिव में 60 डिग्री, ओ पॉजीटिव में 90 और ओ नेगेटिव में 180 डिग्री की पोजीशन ले लेता है।

 

गुहा ने बताया कि साल 2005 में बलौदाबाजार के एक स्कूल में पानी के अच्छे स्रोत का पता लगाने के लिए मुझे बुलाया गया था। वहां के बच्चे काफी शरारत कर रहे थे और उन्हें शांत कराने के लिए मैंने उनसे कहा कि सब एक लाइन में खड़े हो जाओ, मैं जांचूंगा कि तुममें पानी है या नहीं। मजाक-मजाक में किए गए इस परीक्षण के दौरान मैंने देखा कि कुछ बच्चों के सिर से थोड़ा ऊपर हथेली पर रखा नारियल 90 डिग्री में खड़ा हो गया और यही प्रयोग मैंने घर आकर अपने बच्चों पर किया तो तीनों के सिर पर रखे नारियल की पोजीशन अलग-अलग थी। लैब में बच्चों का ब्लड ग्रुप चेक कराया तो वो ओ पॉजीटिव निकला। बस यहीं से मेरा ये सफर शुरू हो गया। बहरहाल गुहा अभी अपने शोध को और आगे बढ़ा रहे हैं ताकि इस संबंधी और नई जानकारियां जुटा पाएं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You