अगर महिला ही महिला को छेड़े, तो कानून क्या करे?

  • अगर महिला ही महिला को छेड़े, तो कानून क्या करे?
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-1:42 PM

मुंबई: आपने महिला के साथ छेडख़ानी की कई घटनाएं सुनी होगी, परंतु एक महिला ही दूसरी महिला से छेड़छाड़ करें यह सुनना काफी अजीब लगता है। लेकिन हाल ही में बंबई कोर्ट को इस तरह के मामले का सामना करना पड़ा। इस मामले ने कानून के सामने यह सवाल खड़ा कर दिया कि अगर एक महिाल ही दूसरी महिला से छेड़छाड़ करे, तो कानून क्या करेगा? क्या ऐसे हालात में भारतीय दंड संहिता की धारा 354 के तहत महिला के साथ छेडख़ानी करने के आरोप में मामला दर्ज किया जा सकता है। बंबई उच्च न्यायालय ने यह टिप्पणी 78 वर्षीय एक महिला की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए की।

याचिका में 55 वर्षीय एक महिला द्वारा उसके खिलाफ दर्ज कराए गए छेडख़ानी के मामले को निरस्त करने की मांग की गई है। न्यायमूर्ति एन एच पाटिल और न्यायमूर्ति वी एल अचिलिया की पीठ ने यह जानना चाहा कि क्या किसी महिला के खिलाफ दूसरी महिला से छेडख़ानी को लेकर मामला दर्ज किया जा सकता है। पीठ ने पूछा, ‘‘कानूनी स्थिति क्या है। अगर किसी महिला ने कथित तौर पर ऐसा कृत्य किया हो तो क्या उसे इस धारा के तहत गिरफ्तार किया जा सकता है।’’

अदालत ने याचिकाकर्ता के वकील प्रदीप हवनूर से कहा कि वे कानूनी स्थिति का अध्ययन करें और याचिका पर अगली सुनवाई की तारीख दो हफ्ते बाद निर्धारित कर दी। विमलाभाई शाह और उनके परिवार के सदस्य ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाकर एक मार्च 2010 को उनके खिलाफ दर्ज मामले को निरस्त करने की मांग की। उन पर मुंबई के उपनगरीय इलाके में एक महिला पर हमला करने और उससे छेडख़ानी करने का आरोप लगाया गया था।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You