उप्र में 2 मार्च को चढ़ेगा सियासी पारा

  • उप्र में 2 मार्च को चढ़ेगा सियासी पारा
You Are HereUttar Pradesh
Friday, February 28, 2014-3:23 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजनीति में दो मार्च काफी गहमा गहमी वाला दिन होगा। ऐसे में उप्र का सियासी पारा चढऩा कोई बड़ी बात नहीं होगी। क्योंकि इस दिन प्रदेश में भाजपा, सपा और आप की रैलियां होने वाली हैं। लखनऊ में जहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्री मोदी की रैली है वहीं कानपुर में आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक व दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की रैली होगी। इसी कड़ी में दो मार्च को ही इलाहबाद में समाजवादी पार्टी (सपा) की ‘देश बचाओ-देश बनाओ’ रैली होगी। केंद्र की सत्ता को हासिल करने का ख्वाब संजोए बैठी भाजपा काफी अर्से पहले ही गुजरात के मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बना कर कई जिलों में रैलियां कर चुकी है।

दो मार्च को होने वाली विजय शंखनाद रैली में उन्ही में से एक है, जिसकी घोषणा का भाजपा ने बहुत पहले कर दी थी। घोषणा के बाद से ही पार्टी के नेता और कार्यकर्ता बड़े पैमाने में रैली को सफल बनाने के लिए हर प्रयास शुरू कर दिए थे। पार्टी कार्यकतार्ओं का टी स्टाल, बाइक रैली, जनसंर्पक, बैठक और घर-घर निमंत्रण देने का कार्यक्रम अब अंतिम दौर में पहुंच चुका है। पार्टी नेता रैली से जुड़ी तैयारियों की जिम्मेदारी आपस में बांटकर करीब-करीब तैयारियों को पूरा कर चुके हैं। वहीं सपा ने भी रैलियों की तैयारियां शुरू कर दी है। सपा प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी के मुताबिक, पार्टी की अगली रैली 2 मार्च को इलाहाबाद में होगी।

इस रैली को सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव तथा प्रदेश अध्यक्ष मुख्यमंत्री अखिलेश यादव संबोधित करेंगे। रैली के सफल आयोजन के लिए सपा सांसद व राष्ट्रीय महासचिव कुंवर रेवती रमण सिंह को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिनके नेतृत्व में सपाईयों ने तैयारियां भी शुरू कर दी गयी हैं। गौरतलब है कि इसके पूर्व 21 नवंबर को मुलायम बरेली में जबकि मोदी आगरा में रैली कर चुके हैं। 20 दिसंबर को मोदी ने वाराणसी में व मुलायम ने बदायूं में रैली को संबोधित किया था।

जबकि 23 जनवरी को गोरखपुर में मोदी की और वाराणसी में मुलायम की रैली हो चुकी है। ऐसे में आप कार्यकर्ता भी पीछे नहीं है। आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की दो मार्च को कानपुर में होने वाली रैली के लिए आप कार्यकर्ताओं ने ताकत झोंकनी शुरू कर दी है। कार्यकर्ता बैठक कर और ‘झाडू चलाओ बेईमान भगाओ’ यात्रा के जरिए रैली में भारी भरकम भीड़ ले जाने की योजना बना रहे है। आप कार्यकर्ता रैली को सफल बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा जनसंपर्क अभियान चला रहे है। पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि कानपुर में केजरीवाल की रैली हर मायने में सफल रहेगी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You