अमेठी: आप में शामिल हो सकते हैं फतेह!

  • अमेठी: आप में शामिल हो सकते हैं फतेह!
You Are HereUttar Pradesh
Friday, February 28, 2014-3:39 PM

अमेठी: लोकसभा चुनाव से पहले अमेठी में पल-पल सियासी समीकरण बदलते नजर आ रहे हैं। 16वीं लोकसभा के चुनाव के लिए राहुल गांधी को खुली चुनौती देने वाले आम आदमी पार्टी (आप) के प्रत्याशी कुमार विश्वास ने अब कांग्रेस विरोधियों को आप के झंडे तले लाने की भी मुहिम शुरू कर दी है, ताकि सियासी समीकरण उनके पक्ष में हो सके।

वहीं कांग्रेस नियंत्रण करने में तो जुटी है लेकिन असंतुष्ट नेताओं की फेहरिश्त इतनी लम्बी है कि चुनाव के ऐन वक्त पहले पार्टी सभी को संतुष्ट नहीं कर पा रही है। अब अमेठी की गौरीगंज विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक रहे नूर मोहम्मद के बेटे और कद्दावर नेता फतेह मोहम्मद उर्फ फतेह बहादुर ने पार्टी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। गौरीगंज के मूल निवासी फतेह मोहम्मद अल्पसंख्यक समुदाय के बीच अहम भूमिका अदा करते हैं और उनकी गिनती जिले के कद्दावर नेताओं में होती है, लेकिन अपनी उपेक्षा के कारण वह शीर्ष नेतृत्व से काफी समय से नाराज चल रहे थे।

खास तौर से विधानसभा चुनाव में उन्हें टिकट नहीं मिलने से सलौन-तिलोई गौरीगंज का अल्पसंख्यक समुदाय का एक बड़ा वर्ग कांग्रेस से खफा चल रहा था। फतेह मोहम्मद की नाराजगी को भांपकर पार्टी की ओर से उन्हें अल्पसंख्यक आयोग में किसी विशेष पद पर नियुक्ति करने की बात की जा रही थी, लेकिन बाद में जब उन्हें अल्पसंख्यक आयोग का सदस्य बनाने की पेशकश की गई तो फतेह मोहम्मद इतने उखड़ गये कि उन्होंने यहां तक कह डाला कि अल्पसंख्यक आयोग का सदस्य बनने से बेहतर है कि वह सिर्फ कांग्रेस के सदस्य बने रहें।

फतेह मोहम्मद के इस मिजाज के बाद कांग्रेस में सियासी उथल-पथल और तेज हो गई। पार्टी अभी तक फतेह मोहम्मद को मनाने में कामयाब भी नहीं हो पायी थी कि अमेठी में डेरा जमाये कुमार विश्वास को अपने घर के एक जलसे में आमंत्रित करके उन्होंने जिले की सियासत को और गरमा दिया है।

उधर आप भी फतेह मोहम्मद की विरोध की राजनीति को अपने पक्ष में करने का कोई मौका गंवाना नहीं चाहती। कुमार विश्वास के करीबी साथी रऊफ इस बात की पुष्टि करते हुए कहते हैं कि फतेह मोहम्मद ने फोन करके कुमार विश्वास को आमंत्रित किया है। जिसमें कुमार विश्वास शिरकत करेंगे।

इस मामले में जब फतेह मोहम्मद से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि कुमार विश्वास की ओर से फोन आया था और वह जलसे में शरीक होना चाहते थे। इसलिए वह हमारे वहां आ रहे हैं। फोन भले ही किसी ने किया हो लेकिन फतेह मोहम्मद और कुमार विश्वास की ये मुलाकात किसी बड़े सियासी फैसले का सबब बन सकती है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You