अब नहीं बच सकेंगे भ्रष्ट पुलिसकर्मी!

  • अब नहीं बच सकेंगे भ्रष्ट पुलिसकर्मी!
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-5:29 PM

जयपुर: राजधानी के प्रमुख चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मियों की गतिविधियां अब कैमरे की निगाहों में कैद होगी। ऐसे में अब किसी भी पुलिसकर्मी की शिकायत आने पर रिकॉडिंग के आधार पर उसकी जांच की जाएगी, और उसी आधार पर उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही पुलिस में फैले भ्रष्टाचार में कमी लाने के लिए यातायात पुलिस ई चालान व्यवस्था भी चालू करने जा रही है। इस प्रयोग का शुरुआती परीक्षण हो चुका है इसे जल्द ही लागू कर दिया जाएगा।

डीसीपी (यातायात) लवली कटियार ने बताया कि पुलिस में फैले भ्रष्टाचार को कम करने के लिए ई चालान सिस्टम लागू किया जाएगा। इसका प्रारंभिक तौर पर परीक्षण किया जा चुका है। इसके बाद भी अगर किसी पुलिसकर्मी की शिकायत आती है तो उसकी जांच करवाई जाएगी। अब से पहले तक चौराहों पर लगे कैमरों में यातायात पुलिसकर्मियों की गतिविधियों की वीडियो रिकॉर्डिंग को सुरक्षित नहीं रखा जाता था। लेकिन अब इस रिकॉर्डिंग का उपयोग शिकायत आने पर जांच के तौर पर संबंधित पुलिसकर्मी के खिलाफ किया जाएगा।

शहर के विभिन्न चौराहों पर  करीब 66 कैमरे लगाए हुए हैं जिसमें पिछले सात साल में एक भी पुलिसकर्मी को रिश्वत लेते हुए या नियमों का उल्लघंन करने का कोई वीडियो फुटेज या फोटो रिकॉर्ड नहीं मिला। ऐसे में किसी भी पुलिसकर्मी की ऐसी शिकायत आने पर उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिलने के कारण वह सजा से बच निकलता था।

जानकार सूत्रों का कहना है कि इस तरह की शिकायतों को लेकर शिकायतकर्ता और पुलिसकर्मियों के बीच कई बार आपसी टकराव बढऩे से आला स्तर पर शर्मिन्दगी का सामना करना पड़ा। अत: अब इन चौराहों पर लगे कैमरों में अगर कोई ऐसी गतिविधि नजर आती है तो उसका रिकॉर्ड रखा जाएगा। ताकि आवश्यकता पडऩे पर उसका उपयोग किया जा सके।  डीसीपी ट्रैफिक यातायात व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयासरत हैं। इनके प्रयासों का असर अब जयपुर की यातायात व्यवस्था पर दिखाई भी पडऩे लगा है।

जयपुर शहर में एमआई रोड, जेएलएन मार्ग सहित अन्य प्रमुख मार्गो पर कैमरे लगाए हुए हैं। ऐसे में अब इन कैमरों का सभी तरह से उपयोग किया जाएगा, जिससे अब भ्रष्ट या रिश्वतखोर पुलिसकर्मी भी नहीं बच पाएंगे। वीडियो फुटेज का उपयोग शिकायत आने पर पुलिसकर्मी के खिलाफ सबूत के तौर पर किया जाएगा। चारदीवारी की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए डीसीपी टै्रफिक कई बार व्यापारियों के साथ बैठक कर चुकी हैं।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You