मोदी ने साबित किया सेकुलरिज्म से महत्वपूर्ण है सुशासन: नकवी

  • मोदी ने साबित किया सेकुलरिज्म से महत्वपूर्ण है सुशासन: नकवी
You Are HereNational
Friday, February 28, 2014-7:19 PM

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के पक्ष में दलित नेता रामदास अठावले, उदित राज एवं रामविलास पासवान के जुडऩे की घटना को ऐतिहासिक बताते हुए आज कहा कि मोदी ने साबित कर दिया है कि देश में सेकुलरिज्म से महत्वपूर्ण है सुशासन।

मोदी के विकास माडल पर लिखी किताब ‘मोदी मंत्र’ के विमोचन समारोह उन्होंने कहा कि कुछ राजनेताओं पर तो विश्वास ही नहीं किया जा सकता था कि मोदी के पक्ष में आएंगे। लेकिन अठावले, उदितराज और पासवान भाजपा के साथ आ गए हैं। इस तरह मोदी यह साबित करने में सफल रहे हैं कि सेकुलरिज्म से महत्वपूर्ण सुशासन है।

भाजपा उपाध्यक्ष ने कहा कि विगत वर्षो में कांग्रेस के नेतृत्ववाली मनमोहन सरकार के कुशासन के कारण देश में भ्रष्टाचार को लेकर गुस्सा उभरा और राजनीतिक व्यवस्था पर अविश्वास का वातावरण बना। ऐसे वातावरण में मोदी करोड़ों देशवासियों की आशा का केन्द्र बनकर उभरें हैं तो उसका कोई कारण अवश्य है। यह उनकी उपलब्धित भी है।

उन्होंने कहा कि आज देश का हर वर्ग मान रहा है कि मोदी की अगुवाई में देश को विकास के रास्ते पर ले जाया जा सकता है। विरोधियों में निराशा और हताशा है। इसी पराजय की हताशा में अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

भाजपा की प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने कहा कि मोदी ने गुजरात की संपत्ति परंपरा, शासन को न्यासी की भांति संभाला है और देश को भी न्यासी की भांति संभालेगें। उन्होंने तटस्थ लोगों को मोदी के पक्ष में आने की अपील की।

प्रख्यात पत्रकार राम बहादुर राय ने पुस्तक की समीक्षा पेश की। उन्होंने मोदी को कारोबारी राजनीतिज्ञ कहे जाने पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा कि मोदी कर्म प्रधान या कामकाजी राजनीतिज्ञ हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय नेतृत्व की मर्जी के खिलाफ वह राष्ट्रीय परि²श्य में उभरे हैं जिसके पीछे उनकी कर्म प्रधान राजनीति है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You