7 में से 5 सांसदों के खिलाफ विरोध के सुर

  • 7 में से 5 सांसदों के खिलाफ विरोध के सुर
You Are HereNational
Saturday, March 01, 2014-1:57 AM
नई दिल्ली (अशोक शर्मा): दिल्ली की 7 में से 5 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस के कार्यकत्र्ता ही आने वाले दिनों में पार्टी के सांसदों के खिलाफ विरोध के सुर बुलंद कर सकते हैं।
 
पार्टी के नेता बेशक टिकट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया को एक स्वस्थ परम्परा बता रहे हैं लेकिन दूसरी ओर कार्यकत्र्ता सांसदों की खिलाफत करने संबंधी कदम को दिल्ली में पार्टी के लिए एक अशुभ संकेत मान रहे हैं। 
 
दिल्ली में लोकसभा की 7 में से 5 सीटों पर टिकट पाने के इच्छुक कार्यकत्र्ताओं ने आवेदन करते समय 10-10 हजार रुपए जमा करवाए हैं। राहुल गांधी के आदेश पर जिन 2 सीटों पर प्राइमरी प्रोसेस के जरिए उम्मीदवारों का चयन किया जाना है वे हैं, नई दिल्ली और उत्तर-पूर्वी संसदीय क्षेत्र। नई दिल्ली से पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद अजय माकन के अलावा किसी ने नामांकन दाखिल नहीं किया है।
 
माकन का पुन: चुनाव मैदान में उतरना लगभग तय माना जा रहा है। इसी तरह पूर्वी दिल्ली सीट पर भी किसी कार्यकत्र्ता ने सांसद संदीप दीक्षित के खिलाफ आवेदन दाखिल नहीं किया है। इसके अलावा चांदनी चौक, उत्तर-पश्चिम, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली और पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र हैं।
 
उत्तर-पूर्वी दिल्ली की सीट पर प्राइमरी प्रोसेस के अनुसार ही उम्मीदवार का चयन किया जाएगा। पार्टी सूत्रों के अनुसार इस प्रकार अब बची 4 सीटों पर आवेदन जमा कराने के लिए शुक्रवार को आखिरी दिन तक कुल 18 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि 4 संसदीय इलाकों में पार्टी के सांसदों के खिलाफ आवाज उठनी शुरू हो गई है।
 
सूत्रों के अनुसार प्रदेश पार्टी कार्यालय में जमा हुए आवेदनों में चांदनी चौक के सांसद व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और पश्चिमी दिल्ली के सांसद महाबल मिश्रा को पुन: टिकट दिए जाने  का विरोध किया जा रहा है। इसके साथ ही केंद्रीय महिला कल्याण मंत्री व उत्तर-पश्चिमी दिल्ली की सांसद कृष्णा तीरथ की जगह भी कुछ कार्यकत्र्ताओं 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You