प्रत्याशी चयन में राजे की राय सर्वोपरि होगी

  • प्रत्याशी चयन में राजे की राय सर्वोपरि होगी
You Are HereRajasthan
Sunday, March 02, 2014-12:42 PM

जयपुर: केन्द्रीय भारतीय जनता पार्टी लोकसभा की 272 सीटों पर जीत का आंकड़ा बिठाने में कई अन्य दलों को अपने साथ लेने में लगी है पर राजस्थान की सरजमीं से दिल्ली लोकसभा में पहुंचने वाले 25 सांसदों की चयन प्रक्रिया में लिए क्षेत्रीय कार्यकत्र्ताओं, पदाधिकारियों से सम्भावित उम्मीदवारों के फीडबैक पर आखिरी मोहर लगाने में केन्द्रीय भाजपा चुनाव समिति के साथ प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की राय सर्वोपरि होगी।

वसुंधरा राजे के समर्थकों का राय के पीछे ठोस तर्क है कि विधानसभा में मुख्यमंत्री राजे की राजनीतिक फीडबैक 145 विधायकों की जीत की बताई जा रही थी। उसके उपरान्त राजे के सुराज संकल्प यात्रा के दौरान प्रदेशभर में दिए गए प्रदेश के विकास और जनहित के आम आदमी को भरोसे का प्रतिफल 163 निकला। उत्साहित केन्द्रीय भाजपा आलाकमान ने राजे द्वारा दिया गया मिशन 25 का भी संकल्प पूरा समझा है।

सूत्र बताते हैं कि इस बाबत राजे को राजस्थान से लोकसभा की 25 सीटों पर प्रत्याशी चयन के लिए पूरी छूट दी गई है जिसका आभास मुख्यमंत्री ने स्वयं प्रदेश भाजपा कार्यालय में मीडिया को यह कहकर दिया कि मीडिया के क्यास और राजनीतिक विशेषण विधानसभा की तरह लोकसभा के उम्मीदवारों पर भी चौंकाने वाला होगा।
 
एक-एक सीट पर प्रदेश भाजपा कार्यालय में चल रही रायशुमारी में एक-एक सीट पर ऐसे पुराने दिग्गजों के साथ नए राजनीतिक खिलाडिय़ों के नाम सामने आ रहे हैं जिन नामों पर केन्द्रीय भाजपा आलाकमान पहली बार विचार करेगा लेकिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का जो भरोसा आलाकमान को दिया गया है उससे प्रदेश नेतृत्व में राजे की राजनीतिक घेराबंदी और संसद की 25 सीटें जीतने के वायदे पर आलाकमान फिलहाल नुक्ताचीनी करने से बच रहा है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You