अब एसएमएस अलर्ट गवाह को बताएगा गवाही पर जाना है!

  • अब एसएमएस अलर्ट गवाह को बताएगा गवाही पर जाना है!
You Are HereNational
Sunday, March 02, 2014-2:48 PM

भोपाल: गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा है कि अभियोजन अधिकारी गवाहों को पर्याप्त ब्रीफिंग दें ताकि वे न्यायालय के समक्ष सक्षम प्रस्तुति दें। साथ ही अभियोजन अधिकारी प्रकरण से जुडे इन्वेस्टिगेशन और नोडल अधिकारियों की भी ब्रीफिंग करें। अभियोजन अधिकारी स्वयं प्रकरण का अच्छी तरह अध्ययन करे। गौर आज प्रशासन अकादमी में आयोजित ई-प्रासीक्यूशन एवं आवश्यक उपकरण वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए। प्रशासन अकादमी के महानिदेशक आई.एन.एस. दाणी पुलिस महानिदेशक नंदन दुबे, एडीजी सीआईडी  राजीव टण्डन, सचिव गृह, डी.पी. गुप्ता संचालक अभियोजन आलोक वर्मा मौजूद थे।

 

उन्होंने कहा कि बुद्धि और मन से हर आदमी को अपने कर्म के प्रति समर्पित होना चाहिए। अभियोजन अधिकारियों को भी इस बात को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभियोजन अधिकारियों को ई-उपकरण से लेस किया गया है जो उनके कार्य को अधिक गति देगा। उन्होंने अभियोजन अधिकारियों को लेपटॉप और ई-उपकरण वितरित किए। ई-प्रासीक्यूशन एवं आवश्यक उपकरणों का वितरण और ई-प्रासीक्यूशन वर्क फ्लो सॉफ्टवेयर से आपराधिक प्रकरणों की समीक्षा एवं गवाहों को एसएमएस से सूचना के प्रदर्शन के संबंध में बताया गया कि अब गवाहों को तीन बार एसएमएस से सूचना दी जाएगी।

 

पहले सातवें दिन फिर तीसरे दिन और फिर उस दिन जिस दिन गवाह को साक्ष्य के लिए जाना है एसएमएस अलर्ट दिया जाएगा। सॉफ्टवेयर के माध्यम से आपराधिक प्रकरणों का पंजीयन कर डाटा बेस को ई-पोर्टल पर दिया गया है। इससे लगभग 8 लाख से अधिक प्रकरण अपडेट होंगे और निराकरण में तेजी आएगी। सॉफ्टवेयर के संबंध में भी विस्तार से जानकारी दी गई। महानिदेशक प्रशासन अकादमी और पुलिस महानिदेशक ने भी संबोधित किया।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You