नेताजी की शराब और बाऊंसरों पर है पुलिस की नजर

  • नेताजी की शराब और बाऊंसरों पर है पुलिस की नजर
You Are HereNational
Sunday, March 02, 2014-11:53 PM
नई दिल्ली(महेश चौहान): दिल्ली  में लोकसभा चुनाव का अब ज्यादा वक्त नही रह गया है। राजनीतिक पार्टियां खुद को पाक साफ कहकर विपक्षी पार्टी को बेईमान बतलाने की कोशिश कर रही है। कहें तो चुनावों की गर्मागर्मी अपनी चरम सीमा पर है। 
 
अब ऐसा हो नहीं सकता कि चुनाव हो और इसमें शराब पीने और पिलाने का चलन नहीं हो। इसके अलावा पिछले कुछ सालों से नेताजी के साथ बाउंसर नहीं चलते। सूत्र बताते हैं कि शराब और बाउंसरों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस इसके लिए स्पैशल टीमों का गठन कर रही है। इसके अलावा मुखबिरों को भी कहा गया है कि वो छोटे बड़े नेताओं व उनकी गतिविधियों पर नजर रखें। साथ ही दिल्ली  के ठेकों पर भी नजर रखें, जहां पर हर चुनाव में बड़े पैमाने पर बुकिंग होती है। 
 
पुलिस के सूत्र बताते हैं कि पुलिस की स्पैशल टीमें अभी से ही उन खुफिया विभाग से मिले इनपुट के आधार पर नोट और शराब के बदले वोट हथियाने वाले व आपराधिक किस्म के बाउंसरों पर नकेल कसने के लिए लिस्ट भी तैयार कर रही है। 
 
बता दें कि चुनाव हो या फिर ड्राई डे  दिल्ली  में फरीदाबाद, गुडग़ांव, सोनीपत और झज्जर जिलों से अवैध शराब आती रहती है। हरियाणा के जिलों में शराब माफिया काफी सक्रिय हैं। यह माफिया अवैध रूप से भ_ियों में बनी देसी शराब दिल्ली  में सप्लाई करता है और इसे पुलिस और नेताओं का संरक्षण प्राप्त है। 
 
माफिया अंग्रेजी शराब भी सप्लाई करता है। दूसरी तरफ  से गाजियाबाद और नोएडा ने दिल्ली  को घेर रखा है। अगर बात करें बाउंसरों की तो दिल्ली  के बॉर्डरों से सटे  हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों में खासतौर पर गाजियाबाद और नोएडा में पहलवानों के काफी अखाड़े हैं। रौब व रूतबा बरकरार रखने के लिए नेता जी व उम्मीदवार यहां के बाउंसरों को  1 महीने के लिए किराए पर ले लेते हंै। इसके लिए वे इन बाउंसरों उर्फ पहलवानों को इसकी मोटी रकम भी देते हैं। ये बाउंसर भी नेताजी के साथ सफेद कुत्र्ता और पजामें पहने चलते हुए खुद को किसी प्रोफैशनल बॉडीगार्ड से कम नही समझते हैं। 
 
इन चीजों को रोकने के लिए दिल्ली  पुलिस की पड़ोसी राज्यों से होने वाली मीटिंगों में इन चीजों पर बातचीत होनी है। अभी हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली  पुलिस व आबकारी विभाग ने पूरे दिल्ली  से हरियाणा टे्रडमार्क की करीब 41 हजार बोतल शराब बरामद की थी। साथ ही करीब डेढ़ करोड़ से ज्यादा की नगदी भी जब्त की गई थी। यह पैसा और शराब वोटरों में बांटने के लिए लाया जा रहा था।  
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You