उप्र में 500 से ज्यादा आबादी वाले इलाके भी सड़कों से जुड़ेंगे

  • उप्र में 500 से ज्यादा आबादी वाले इलाके भी सड़कों से जुड़ेंगे
You Are HereNational
Monday, March 03, 2014-10:27 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि वर्तमान सरकार प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों एवं सड़कों की सुविधा से वंचित गांवों को मुख्य सड़कों से जोडऩे का लगातार प्रयास कर रही है। इसके तहत जनपद मुख्यालय को 4 लेन की सड़कों की जोडऩे का काम भी तेजी से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार जरूरत के मुताबिक नदियों पर पुल, रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी) तथा नगरों में फ्लाईओवर बनाने का काम कर रही है। इसके अलावा राज्य सरकार ने अधूरे पड़े पुलों को भी शीघ्रता से पूरा कराने की कार्रवाई कर रही है।

उन्होंने बताया कि अगले वित्तवर्ष के लिए विकास के एजेंडा में इस दिशा में और अधिक तेजी से काम करने की अपेक्षा की गई है। इसके तहत 500 से अधिक आबादी की असंतृप्त बसावटों को सड़कों से जोडऩे, ग्रामीण सड़कों के अनुरक्षण नीति के प्रभावी क्रियान्वयन तथा पीपीपी मोड पर निर्मित कराई जा रही सड़कों की लगातार मॉनिटरिंग के लिए कहा गया है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा उच्च, माध्यमिक, व्यावसायिक, प्राविधिक एवं बेसिक शिक्षा के क्षेत्र में प्राथमिकता निर्धारित करते हुए बांदा, बिजनौर एवं अकबरपुर में निमार्णाधीन इंजीनियरिंग कॉलेजों को निर्धारित समय में पूरा कराकर संचालित कराने के लिए कहा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश कृषि आधारित अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। इसलिए किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गांव एवं किसान की बेहतरी के लिए अब तक कई निर्णय लिए हैं। उन्होंने कहा कि अगले वित्तवर्ष के लिए भी इस क्षेत्र में बेहतर काम करने के लिए एजेंडा निर्धारित कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए डेयरी क्षेत्रों में चल रही परियोजनाओं को समय से पूरा कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके साथ ही वर्तमान प्रदेश सरकार ऊर्जा के क्षेत्र में काफी गंभीरता से काम कर रही है। वर्ष 2016-17 में जनपद मुख्यालयों को 24 घंटे एवं ग्रामीण क्षेत्रों को 18 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने, तहसील मुख्यालयों में निमार्णाधीन उपकेंद्रों का कार्य समय से पूरा कराने तथा विभिन्न उत्पादन इकाइयों के लंबित प्रकरणों का तेजी से निपटारा कराते हुए विद्युत उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए तत्परता से कार्य करने की अपेक्षा विभाग से की गई है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You