चौथी लोकसभा में बनी थी 7 सीटें

  • चौथी लोकसभा में बनी थी 7 सीटें
You Are HereNational
Monday, March 03, 2014-11:53 PM
नई दिल्ली (ताहिर सिद्दीकी): पहली लोकसभा से 16वीं लोकसभा तक आते-आते दिल्ली में मतदाताओं की संख्या 10 गुणा बढ़ गई है। 1952 में पहले लोकसभा चुनावों में राजधानी में कुल वोटरों की संख्या 11 लाख 32 हजार 544 थी, जबकि इस समय 1 करोड़ 14 लाख 88 मतदाता हैं।
 
पहले लोकसभा चुनाव में दिल्ली में 3 निर्वाचन क्षेत्र थे, जिसमें बाहरी दिल्ली डबल कैंडिटेड सीट थी। 4 सीटों वाली राजधानी को चौथी लोकसभा में 7 सीटों वाली बना दी गई। 
 
पहले लोकसभा चुनावों में नई दिल्ली, बाहरी दिल्ली(डबल कैंडिटेड सीट) और दिल्ली शहर नाम के निर्वाचन क्षेत्र थे, जबकि वर्तमान में 7 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र हैं। इसी तरह पहले लोकसभा चुनाव में कुल 19 उम्मीदवार मैदान में थे, वहीं 2009 में हुए 15वीं लोकसभा चुनाव में कुल प्रत्याशियों की संख्या 160 थी।
 
अब यह अलग बात है कि इनमें से 145 की जमानत जब्त हो गई। जहां मतदाताओं की संख्या बढ़ी है, वहीं मतदान का प्रतिशत कम हुआ है। पहले लोकसभा चुनाव में दिल्ली के 57.92 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे, जबकि 2009 में केवल 52 फीसदी वोटर ही मतदान केंद्रों 
तक पहुंचे। 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You