सीबीआई जांच खत्म होने तक रोल्स रॉयस कॉन्ट्रैक्ट ठंडे बस्ते में

  • सीबीआई जांच खत्म होने तक रोल्स रॉयस कॉन्ट्रैक्ट ठंडे बस्ते में
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-4:42 PM

नेपीडा: सरकार ने ब्रिटिश कंपनी रोल्स रॉयस से जुड़े भ्रष्टाचार के आरोपों के मामले में सीबीआई जांच लंबित रहते कंपनी के साथ अपने सभी मौजूदा और भविष्य के सौदों पर आज रोक लगा दी और लंदन की कंपनी द्वारा कमीशन के तौर पर ली गई रकम वसूलने का फैसला किया। सूत्रों ने कहा कि भारत ब्रिटेन से भी जानकारी मांगेगा जहां सीरियस फ्रॉड ऑफिस चीन और इंडोनेशिया से संबंधित मामलों में रोल्स रॉयस के खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोपों की जांच कर रहा है।

इस बीच रोल्स रॉयस ने कहा कि वह कोई गलत आचरण बर्दाश्त नहीं करेगी और कथित रिश्वत मामले में भारतीय अधिकारियों को पूरी तरह सहयोग करेगी। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि सरकारी स्वामित्व वाली हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को विमानों के इंजनों की आपूर्ति के लिए 10,000 करोड़ रपए के ठेकों में रिश्वतखोरी के आरोपों में रक्षा मंत्री ए के एंटनी द्वारा सीबीआई जांच के आदेश के चलते रोल्स रॉयस के साथ सभी करारों पर रोक लगा दी गई है।

रोल्स रॉयस ने छह तरह के विमानों-एजेटी हॉक, जगुआर, एवरो, किरन एमके-2 और सी हैरियर तथा सी किंग हेलीकॉप्टरों के लिए इंजनों की आपूर्ति की थी और वायु सेना को इनके रखरखाव तथा मरम्मत के लिए कंपनी के साथ करार करना था। रक्षा मंत्रालय के उच्च अधिकारियों ने यहां पीटीआई से कहा कि एचएएल से लंदन की कंपनी रोल्स रॉयस से वह रकम भी वसूलने के लिए कार्रवाई करने को कहा गया है जो उसने कमीशन एजेंटों को अदा की थी।

रॉल्स रॉयस इंजन सौदे की जांच का सेना पर असर नहीं

हॉक आधुनिक जेट ट्रेनर (एजेटी) के लिए रॉल्सयस इंजनों की खरीद में कथित भ्रष्टाचार की जांच स्वाभाविक है और इसका मतलब यह नहीं निकाला जाना चाहिए कि रक्षा बल को कोई विमान नहीं मिल पाएगा। यह बात सोमवार को यहां एक वरिष्ठ भारतीय अधिकारी ने कही। रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी के आदेश पर केंद्रीय जांच ब्यूरो ने करोड़ों डॉलर के इस सौदे की जांच शुरू की है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के दल के साथ यहां आए अधिकारी ने कहा कि सरकार सच्चाई के सामने आने का इंतजार करेगी।

मामले की जानकारी रखने वाले अधिकारी ने हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के लिए एरो इंजनों की खरीदारी के बारे में कहा, ‘‘यह मानना उचित नहीं है कि (इस सौदे से) इंजन नहीं मिलेगा, तो विमान तैयार नहीं हो पाएगा।’’ अधिकारी से 2007 के बाद से रॉल्स रॉयस इंजन की खरीदारी और एक हथियार डीलर सुधीर चौधरी की दो सप्ताह पहले ब्रिटेन के गंभीर अपराध कार्यालय द्वारा की गई गिरफ्तारी के बारे में पूछा गया था।

अधिकारी ने कहा कि अभी तक पता नहीं चल पाया है कि चौधरी की गिरफ्तारी का भारतीय सौदे से कोई संबंध है या नहीं। उन्होंने कहा, ‘‘रक्षा मंत्री द्वारा सीबीआई से इस मामले पर नजर रखने के लिए कहना स्वाभाविक ही है।’’ प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अधिकारियों के एक दल के साथ दो दिवसीय यात्रा पर सोमवार को म्यांमार की राजधानी नेपीडा पहुंचे हैं। वह यहां सात देशों के संगठन बिम्सटेक के तीसरे शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए आए हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You