कल से हो सकती है डॉक्टरों की देशव्यापी हड़ताल

  • कल से हो सकती है डॉक्टरों की देशव्यापी हड़ताल
You Are HereNcr
Wednesday, March 05, 2014-1:02 AM
नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के कानपुर में मैडीकल कॉलेज के छात्रों के साथ हुई मारपीट और गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को दिल्ली के डॉक्टरों ने काली पट्टी बांधकर अपना विरोध दर्ज करवाया। 
 
शहर के अधिकतर सरकारी और निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने घटना के प्रति रोष जाहिर करते हुए काली पट्टी बांध कर अस्पताल में आए। इस दौरान अस्पताल में आए मरीजों को यू.पी. में मैडीकल छात्रों के साथ हुई घटना के बारे में बताया ।
 
वहीं अब इंडियन मैडीकल एसोसिएशन के दिए गए 48 घंटे के अल्टीमेटम में से 24 घंटे पूरे होने के बाद भी देश में डॉक्टरों की देशव्यापी हड़ताल का खतरा मडराने लगा है। दिल्ली मैडीकल एसोसिएशन के अनिल गोयल ने कहा कि अल्टीमेटम का आधा समय बीत गया है लेकिन प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार ने अब तक घटना के खिलाफ कोई भी सख्त कदम नहीं उठाए हैं।
 
गोयल ने आगे कहा कि सरकार के रवैए को देखते हुए लग रहा है कि डॉक्टरों को अब देशव्यापी हड़ताल करनी पड़ेगी, जिसके लिए केवल और केवल उत्तर प्रदेश प्रशासन जिम्मेदार होगा।गौरतलब है कि 28 फरवरी को कानपुर के एक निजी मैडीकल कॉलेज के छात्रों और स्थानीय विधायक इरफान सोलंकी के बीच झड़प हो गयी थी। 
 
छात्रों का आरोप है कि इरफान सोलंकी ने अपने रसूक का गलत इस्तेमाल करके छात्रों की पिटाई पुलिस से करवाई है। इसमें करीब 24 छात्र घायल हुए हैं, जिन्हें उत्तर प्रदेश सरकार की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डॉक्टरों की मांग है कि इन सभी छात्रों को बिना शर्त के रिहा किया जाए और इरफान सोलंकी के खिलाफ ठोस कानूनी कार्रवाई की जाए। 
 
दिल्ली में कई जगह  हुए प्रदर्शन और कैंडल मार्च : कानपुर की घटना के विरोध में दिल्ली में कई मैडीकल कॉलेजों मे मंगलवार की शाम को कैंडल मार्च निकाले गए तो कई जगह लोगों ने पैदल मार्च कर अपना रोष जाहिर किया। दिल्ली मैडीकल एसोसिएशन के नेतृत्व में सुचिता कृपलानी (लेडी हाॄडग) अस्पताल के डॉक्टरों और छात्रों ने अस्पताल से लेकर जंतर-मंतर तक पैदल मार्च निकाला।
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You