फेसबुक के सर्वे में नौकरी है सबसे बड़ा मुद्दा

  • फेसबुक के सर्वे में नौकरी है सबसे बड़ा मुद्दा
You Are HereNcr
Thursday, March 06, 2014-1:42 AM
नई दिल्ली(अभिषेक आनंद): भारत के आम चुनाव पर दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने नजर रखनी शुरू कर दी है। पहले तो फेसबुक लोगों की ओर से किए गए पोस्ट, तस्वीर और कमैंट का विश्लेषण करेगी। इसके बाद सबसे अधिक चॢचत विषय को रिजल्ट के तौर पर लोगों के सामने पेश किया जाएगा।
 
अमेरिकी कंपनी फेसबुक की फेसबुक इंडिया पेज ने मंगलवार को इंडिया इलेक्शन ट्रैकर लांच कर दिया है। फेसबुक ने दावा किया है कि भारत के 9 करोड़ 30 लाख लोग फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं और उन्हें फेसबुक के नए प्लेटफॉर्म के जरिए अपनी बात रखने का मौका मिलेगा। फेसबुक ने इलेक्शन ट्रैकर अप्लीकेशन पर एक सर्वे भी शुरू कर दिया है।
 
बुधवार की देर रात तक के रुझान के मुताबिक ज्यादातर लोगों ने करप्शन को निचले पायदान पर रखा। इस सवाल के जवाब में कि उनके लिए चुनाव के मुद्दे क्या है? लोगों ने नौकरी को पहला मुद्दा बनाया। फेसबुक ने एजुकेशन, जॉब, हैल्थ केयर और करप्शन का विकल्प दिया। हालांकि एफ.बी. ने विकल्पों की सूची में करप्शन को आखिरी पायदान पर रखा और लोगों ने भी उसे सबसे कम महत्वपूर्ण मुद्दा बताया। 
एक ही व्यक्ति को एक से अधिक बार सर्वे में भाग लेने की इजाजत दी गई है।
 
इसके लिए एफ.बी. लोगों को वोट अगेन का ऑप्शन देकर प्रेरित भी करती है। चुनाव आयोग के मुताबिक भारत में 2014 के चुनाव में 81 करोड़ से अधिक वोटर भाग लेंगे। अगर एफ.बी. के दावों को सही मानें तो 11 फीसदी वोटर फेसबुक पर या तो अपनी राय देते हैं या फिर दूसरों की राय जानने के लिए इस्तेमाल करते हैं। हालांकि भारत की एक बड़ी आबादी अब भी बिजली, इंटरनैट या स्मार्ट फोन से कोसों दूर हैं और जाति-पाति के मुद्दे पर वोट देती रही है। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि फेसबुक जैसे माध्यम का भारत जैसे विकासशील देश के चुनाव पर क्या असर पड़ेगा।
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You