आक्रामक रवैया और मारपीट जनतंत्र के लिए शुभ नहीं: जोशी

  • आक्रामक रवैया और मारपीट जनतंत्र के लिए शुभ नहीं: जोशी
You Are HereUttar Pradesh
Thursday, March 06, 2014-6:20 PM

वाराणसी: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं लोकलेखा समिति के अध्यक्ष डा. मुरली मनोहर जोशी ने कहा है कि लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आक्रामक रवैया तथा मारपीट जनतंत्र के लिए शुभ नहीं है। डा. जोशी ने आज यहां (यूनीवार्ता) से बातचीत करते हुए कहा कि इस समय देश को एक स्थिर, मजबूत एवं समझदार सरकार की जरूरत है और मतभेद के कारण कानून का उल्लंघन एवं हिंसात्मक कार्रवाई ठीक नहीं है। इससे लोगों का जनतंत्र के प्रति विश्वास उठ जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस समय सभी दलों को सावधानी तथा संयम बरतने की जरूरत है और चुनाव बाद जनता की समस्याओं का ध्यान रखा जाए। दिल्ली और लखनऊ समेत अन्य स्थानों पर कल भाजपा एवं आम आदमी पार्टी (आप) कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट पर उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं से जनता के मन को ठेस लगती है। उग्र प्रतिक्रिया देशहित में नहीं है। ऐसी घटनाओं से युवा मतदाताओं पर गलत असर पड़ेगा।

उन्होंने राजनीतिक दलों को सलाह दी कि वे अपने कार्यकर्ताओं को आचार संहिता के पालन की सलाह दें। डा. जोशी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में डाक्टरों के साथ जो घटनाएं हुई हैं वे गलत हैं और शासन को इस आन्दोलन से जनता को हो रही कठिनाइयों पर ध्यान देना चाहिए। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के चिकित्सा विज्ञान संस्थान को एम्स का दर्जा दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस पर गंभीरता से विचार होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस मसले पर कुलपति को ज्यादा समझदारी से काम लेना चाहिए तथा चिकित्सकों के साथ बातचीत कर समाधान निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि एम्स का दर्जा मिल जाने से पूर्वाचल के साथ ही पश्चिमी बिहार, मध्य प्रदेश एवं झारखण्ड के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मिल सकेंगी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You