पुलिस ने आशुतोष-शाजिया से पूछताछ के बाद किया रिहा

  • पुलिस ने आशुतोष-शाजिया से पूछताछ के बाद किया रिहा
You Are HereNational
Friday, March 07, 2014-5:47 AM

नई दिल्ली: भाजपा मुख्यालय के बाहर कल हुए संघर्ष के संबंध में दर्ज की गई प्राथमिकी में आम आदमी पार्टी (आप) के  शीर्ष  नेताओं आशुतोष और शाजिया इल्मी का भी नाम दर्ज किया गया है। इस प्राथमिकी में अन्य आरोपों के साथ ही दंगा और सार्वजनिक संपत्ति को नुक्सान पहुंचाने के आरोप भी शामिल किए गए हैं। पुलिस ने प्राथमिकी में नाम आने पर आशुतोष और शाजिया को उनके घरों से उठाया और संसद मार्ग पुलिस स्टेशन ले गई जहां पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

शाजिया ने कहा कि मुझसे पूछताछ की गई। जो कुछ हुआ अफसोसजनक हुआ। ‘आप’ वर्करों को पीटने वालों के खिलाफ प्राथमिकी क्यों नहीं दर्ज की गई।  इस संघर्ष को लेकर ‘आप’ के 14 कार्यकत्र्ताओं को गिरफ्तार किया गया था। कल रात इस मामले को लेकर ‘आप’ कार्यकत्र्ताओं के खिलाफ संसद मार्ग पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘जिनकी भी पहचान हो पाई है और जो भी विरोध स्थल पर मौजूद थे उनके नाम प्राथमिकी में हैं।

पुलिस ने बताया कि 13 ‘आप’ कार्यकत्र्ताओं और 10 भाजपा समर्थकों समेत 28 लोग संघर्षों में घायल हो गए थे। शाजिया ने आरोप लगाया,‘‘कल हमने दिल्ली पुलिस का भेदभाव देखा जो शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे ‘आप’ समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए भाजपा से जा मिली। पुलिस को भाजपा मुख्यालय के भीतर से फैंकी गई ईंटें, पत्थर और कुर्सियां नहीं दिखीं।  पुलिस भाजपा समर्थकों का बचाव कर रही थी।’’वहीं ‘आप’ के वरिष्ठ नेता राजमोहन गांधी ने भाजपा के दिल्ली मुख्यालय के बाहर भाजपा और ‘आप’ कार्यकत्र्ताओं के बीच हुई हिंसक झड़प को गलत बताया।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You