यौन उत्पीड़न मामला: आसाराम के खिलाफ 19 मार्च से शुरू होगा मुकदमा

  • यौन उत्पीड़न मामला: आसाराम के खिलाफ 19 मार्च से शुरू होगा मुकदमा
You Are HereNational
Friday, March 07, 2014-9:03 AM

जोधपुर: प्रवचन करने वाले आसाराम के खिलाफ यौन उत्पीड़न के मामले में यहां जिला एवं सत्र अदालत में 19 मार्च को बंद कमरे में मुकद्दमा शुरू होगा। पीड़िता 25 मार्च को गवाही देगी। लोक अभियोजक आर एल मीणा ने कहा, ‘‘हमने अदालत में साक्ष्य दर्ज करने के लिए 58 गवाहों की सूची सौंपी। मुकदमा 19 मार्च को शुरू होगा।’’ मीणा ने कहा कि नई दिल्ली थाने की सहायक उप निरीक्षक लक्ष्मी 19 मार्च को गवाही देंगी। वहीं पीड़िता ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

 

मीणा ने कहा, ‘‘इसके बाद उसी थाने के एक और एएसआई और पीड़िता की जांच करने वाले चिकित्सक का परीक्षण किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि पीड़िता 25 मार्च को गवाही देगी। बचाव पक्ष की ओर से आसाराम और चार सह आरोपियों के खिलाफ तय किए गए आरोपों को चुनौती देते हुए उच्च न्यायालय में दायर पुनरीक्षण याचिका लंबित है। लेकिन जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास ने फैसला किया कि याचिका से मुकदमा प्रभावित नहीं होना चाहिए। मामले के अन्य सह आरोपी आसाराम के छिंदवाड़ा स्थित आश्रम की वार्डन संचिता गुप्ता उर्फ शिल्पी, उनका रसोइया प्रकाश, सहायक शिवा और आश्रम के निदेशक शरद चंद्र जमानत पर बाहर हैं।

 

अभियोजन पक्ष ने इस बीच एकबार फिर मामले के जांच अधिकारी एसीपी चंचल मिश्रा को मामले में केस अधिकारी मनोनीत करने के लिए प्रयास शुरू कर दिया है। 75 वर्षीय आसाराम को पिछले साल अगस्त में अपने जोधपुर आश्रम में एक नाबालिग लड़की का यौन उत्पीडऩ करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। तब से वह जोधपुर के एक कारागार में बंद हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You