हवाई नहीं, मौत का सफर बनी यह एयरलाइंस!

  • हवाई नहीं, मौत का सफर बनी यह एयरलाइंस!
You Are HereNational
Saturday, March 08, 2014-5:06 PM

नई दिल्ली: लंबी दूरी तय करने के लिए समुद्री जहाज की अपेक्षा विमान से यात्रा करना ज्यादा सुलभ माना जाता है, लेकिन अब बढ़ते हवाई हादसों के चलते लोगों के मन में डर पैदा हो रहा है। लोग अब इनमें सफर करने से कतराने लगे हैं।

हाल ही में हुए विमान हादसे को ही ले लीजिए। जी, हां हम बात कर रहे हैं मलेशिया एअरलाइंस की। मलेशिया एयरलाइंस मलेशिया की सरकारी विमान कंपनी है और यह एशिया की सबसे बड़ी विमान कंपनियों में से एक है। इस विमान कंपनी के ज़रिए दुनिया भर में करीब 80 जगहों पर जाने के लिए रोजाना 37,000 यात्री उड़ान भरते हैं।

आज कुछ घंटें पहले ही मलेशिया एअरलाइंस बोइंग बी-777-200 के विमान MH370 के लापता होने और दक्षिण चीन समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर मिली। बताया जा रहा है कि इस विमान में पांच भारतीय यात्रियों सहित 239 यात्री सवार थे। बोइंग बी 777-200 का विमान MH370 ने कुआलालंपुर से चीन की राजधानी के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन कुछ देर बाद ही विमान का एयर ट्रैफिक से संपर्क टूट गया और वह हादसे का शिकार हो गया।

उल्लेखनीय हैं कि एक वर्ष से भी कम समय के अंदर बोइंग- 777 का यह दूसरा सबसे बड़ा हादसा है। इससे पहले एशियाना एयरलाइंस का विमान अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को हवाई अड्डे पर दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। सोल से उड़ान भरने वाले इस विमान में तीन भारतीय सहित 291 यात्री और चालक दल के 16 सदस्य सवार थे, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी और 180 से अधिक लोग घायल हो गए थे। एशियाना एयरलाइंस का यह विमान सेन फ्रांसिस्को हवाई अड्डे पर उतरते समय हादसे का शिकार हो गया।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You