दिल्ली में कमला मार्केट के बचे हैं अब गिनती के दिन

  • दिल्ली में कमला मार्केट के बचे हैं अब गिनती के दिन
You Are HereNational
Sunday, March 09, 2014-1:03 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के ऐतिहासिक बाजार कमला मार्केट के अब गिनती के दिन बचे हैं और इसकी जगह जल्द ही गगनचुंबी व्यावसायिक परिसर ले सकता है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने अपने हिस्से के बजट के तहत 60 साल पुराने और एशिया का सबसे बड़ा एयर-कूलर मार्केट कहे जाने वाले इस बाजार को ‘‘राजस्व बढ़ाने’’ के लिए बहुमंजिला इमारत परिसर में तब्दील करने की योजना की पुष्टि कर दी है।

 

नई दिल्ली नगर पालिका परिषद की स्थाई समिति के अध्यक्ष मोहन भारद्वाज ने कहा, ‘‘कमला मार्केट और गफ्फार मार्केट जैसी व्यावसायिक जगहों पर वर्षों पहले बनी कुछ ही इमारतें ऊंची हैं जो अब जीर्ण शीर्ण हो चुकी हैं और जगह घेर रही हैं। उनकी जगह आधुनिक व्यावसायिक परिसर बनाकर हम जगह का इस्तेमाल करना चाहते हैं और नगर निकाय का राजस्व भी बढ़ाना चाहते हैं।’’

 

प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की पत्नी के नाम पर 1950 के दशक में बने कमला मार्केट का अब भविष्य अनिश्चित है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के सामने स्थित इस पुराने बाजार का उद्घाटन प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने किया था जहां लगा क्लॉक टॉवर अब धुंधला पड़ चुका है। भारद्वाज ने कहा, ‘‘इस साल के लिए बजट के हिस्से के तहत, हमने अपने राजस्व को बढ़ाने के तरीकों पर विचार किया और हमने सोचा कि ये पुराने बाजार तथा अन्य राजस्व के स्रोत बन सकते हैं।’’

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You