चुनाव के दौरान पूंजी बाजार में कालेधन के इस्तेमाल पर नजर

  • चुनाव के दौरान पूंजी बाजार में कालेधन के इस्तेमाल पर नजर
You Are HereNcr
Sunday, March 09, 2014-6:45 PM
नई दिल्ली : भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड  (सेबी) ने चुनाव के मद्देनजर निगरानी बढ़ा दी है। सूचीबद्ध कंपनियों, पूंजी बाजार अथवा निवेश योजनाओं के जरिये चुनाव में कालाधन स्थानांतरित नहीं हो, इसके लिए सेबी ने निगरानी बढ़ा दी है। 
 
आम चुनाव की शुरआत अगले महीने हो रही है। इस बात को लेकर चिंता जताई जा रही है कि राजनीतिक दल व नेता मतदाताओं को लुभाने के लिए धन खर्च कर सकते हैं। वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि इस तरह के संकेत हैं कि धन जुटाने की गैरकानूनी योजनाएं चलाने वाली कई इकाइयां आगामी सप्ताहों में निवेशकों के जाली खातों से भारी निकासी करेंगी और यह पैसा चुनावी गतिविधियों में लगाया जा सकता है।
 
पूंजी बाजार नियामक सेबी ने धन जुटाने की गैरकानूनी योजनाओं चलाने वाली 500 कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की है। 
कई मामलों में मनी लांड्रिंग के जरिये धन पहुंचाने के लिये बड़ी संख्या में फर्जी खाते बनाए गए हैं। पूंजी बाजार में मनी लांड्रिंग गतिविधियों पर निगाह के लिए पहले से एक बेहतर प्रणाली है। लेकिन चुनाव की वजह से नियामक कुछ अधिक सतर्क हैं, क्योंकि इस दौरान काले धन का प्रवाह बढ़ता है। 
 
अधिकारी ने कहा कि पूंजी बाजार के जरिये आने वाले विदेशी धन पर भी नियामक की निगाह है। साथ ही बाजार इकाइयों के राजनीति से संबंधित व्यक्ति :पीईपी: के साथ सौदों पर भी गहरी निगाह रखी जा रही है। 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You