भारतीय वैज्ञानिक डा.विनोद ने पूरी दुनिया के वैज्ञानिकों को पछाड़ा ..

  • भारतीय वैज्ञानिक डा.विनोद ने पूरी दुनिया के वैज्ञानिकों को पछाड़ा ..
You Are HereBhiwani
Sunday, March 09, 2014-7:33 PM

हिसार: भिवानी जिले के सिंघानी गांव के युवा वैज्ञानिक डा. विनोद श्योराण ने अमेरिका के लोरिडा मे विशेष अनुसंधान कार्यक्रम में दुनिया के सभी वैज्ञानिकों को पछाड़ते हुए अब तक के सबसे युवा वैज्ञानिक का स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। यह पदक उन्हें लोरिडा में हुए कार्यक्रम में दिया गया। अपने बेटे की इस अंतरराष्ट्रीय स्तर की उपलब्धि पर उनके माता-पिता फूले नहीं समा रहे हैं। विनोद श्योराण की बहन सरोज सिंधू हिसार मे ही रसायन विज्ञान की प्रोफेसर हैं।

विनोद श्योराण को स्वर्ण पदक मिलने पर उनके चाहने वालों मास्टर श्याम सुंदर सांगवान, डा.चन्द्रभान श्योराण,प्राचार्य अजीतसिंह श्योराण, वजीर मान, मास्टर मदनलाल, डा.निलेश संधू, प्राचार्य फतेहसिंह, महेंद्र मान, कुलदीप दहिया ने इसे भारत देश की बड़ी उपलब्धि बताया है। कृषि कार्यो में अमेरिका में अनुसंधान करने वाले विनोद श्योराण का जन्म सिंघानी गांव मे सेवानिवृत सूबेदार जगमाल सिंह के घर हुआ। चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय हिसार मे इन्होंने बीएससी करते हुए उनको स्वर्ण पदक प्राप्त हुआ था।

इसी के बलबूते उन्हें अमेरिका में अरकास विश्वविद्यालय मे एमएससी करने के लिए प्रवेश मिला था। तीन साल पहले ही उन्हें एमएससी मे अरकास विश्वविद्यालय अमेरिका मे टॉप रैंक मिला। इस कारण उन्हें उसी यूनिवर्सिटी में पीएचडी के लिए छात्रवृत्ति के लिए चुना गया। पीएचडी मे कृषि क्षेत्र मे उन्होंने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया तथा अमेरिका के राज्यपाल के हाथों उनको यंग इंडियन का आउट स्टैंडिंग युवा वैज्ञानिक के स्वर्ण पदक से नवाजा गया है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You