लोकसभा चुनाव लडऩा मनसे के लिए अस्तित्व का मामला: चव्हाण

  • लोकसभा चुनाव लडऩा मनसे के लिए अस्तित्व का मामला: चव्हाण
You Are HereNational
Tuesday, March 11, 2014-10:24 AM

मुंबई: मनसे प्रमुख राज ठाकरे द्वारा भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का समर्थन करने और अपनी पार्टी के लोकसभा चुनाव लडऩे का निर्णय करने के एक दिन बाद मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि मनसे चुनावी अखाड़े में इसलिए कूदा क्योंकि उसका राजनीतिक अस्तित्व दांव पर है। चव्हाण ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह उनके (मनसे के) अस्तित्व का सवाल है जिस कारण उन्हें लोकसभा चुनाव लडऩे का निर्णय करना पड़ा।’’

 

राज ठाकरे ने कल भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को मनसे के समर्थन की घोषणा की और लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी उम्मीदवारों की पहली सूची भी जारी की। चव्हाण ने कहा, ‘‘यह काफी आश्चर्यजनक होता अगर मनसे लोकसभा चुनाव नहीं लड़ता।’’ यह पूछने पर कि क्या राज ठाकरे के इस कदम से कांग्रेस-राकांपा को 2009 की तरह ही फायदा होगा तो चव्हाण ने टिप्पणी करने से इंकार कर दिया।

 

राजनीतिक हलकों में इस तरह के अनुमान लगाए जा रहे हैं कि चुनाव में मनसे के उतरने से 2009 की तरह की स्थिति पैदा होगी जब संगठन ने शिवसेना-भाजपा के वोटों में मुंबई के छह संसदीय क्षेत्रों एवं अन्य जगहों पर सेंध लगाई थी जिससे मुख्यत: कांग्रेस और राकांपा को फायदा हुआ। कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष माणिकराव ठाकरे ने राज की आलोचना करते हुए कहा, ‘‘शिवसेना और मनसे एक ही हैं। उनके विचार एक-दूसरे से अलग नहीं हैं। हम महाराष्ट्र में मजबूत हैं और यहां नंबर एक रहेंगे।’’

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You