आजम की भैंसों पर बयान देने वाले आईपीएस को नोटिस

  • आजम की भैंसों पर बयान देने वाले आईपीएस को नोटिस
You Are HereNational
Wednesday, March 12, 2014-6:33 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान की भैंसों की चोरी और जल्द की गई बरामदगी पर आईपीएस अमिताभ ठाकुर द्वारा मीडिया में दिए गए बयान पर प्रदेश सरकार ने आईपीएस ठाकुर को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है। गौरतलब है कि आजम खान के भैंसों की चोरी और बरामदगी के बाद ठाकुर ने कुछ चैनलों पर कहा था कि मंत्रीजी की भैंस की तत्काल बरामदगी से आशा का बड़ा संचार हुआ है, लेकिन यह कष्ट का विषय है कि 2011 में चोरी गयी उनके बच्चे की साइकिल और 2013 में उनसे ठगे गए 5000 रुपये में एफआईआर दर्ज होने के बाद अब तक गोमतीनगर थाने की पुलिस ने उनसे पूछताछ तक नहीं की।

इसे शासन की आलोचना की श्रेणी में मानते हुए डीजीपी कार्यालय ने ठाकुर को कारण बताओ नोटिस जारी कर कहा है कि उन्होंने बिना राज्य सरकार की अनुमति के जो बयान दिया है वह अखिल भारतीय सेवा आचरण नियमावली के नियम 7 और 17  का उल्लंघन है। डीजीपी कार्यालय ने इसे ‘नियम विरुद्ध कृत्य’ मानते हुए आपीएस ठाकुर से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा है।

इस पर सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकूर का कहना है कि ठाकुर ने मात्र एक सही बात कही थी और पुलिस द्वारा ताकतवर और गैर-ताकतवर लोगों के बीच किये जा रहे भेदभाव को सामने रखा था। इससे जाहिर है कि सरकार में सही बात उठाने वाले को हमेशा सजा भुगतने के लिए भी तैयार रहना चाहिए।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You