सक्रियता में कमी ने भाजपा की बढ़ाई परेशानी

  • सक्रियता में कमी ने भाजपा की बढ़ाई परेशानी
You Are HereNational
Wednesday, March 12, 2014-10:39 PM

नई दिल्ली(धनंजय कुमार): लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली की 7 सीटों पर प्रत्याशियों को उतारने के लिए भाजपा में मंथन अब भी जारी है और संभव है कि वीरवार देर शाम तक प्रत्याशियों के नाम की घोषणा भी हो जाए। लेकिन प्रत्याशियों के नाम तय करने में पार्टी आलाकमान का पसीना छूट रहा है।

क्योंकि पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी ने जिन नेताओं को अपना प्रत्याशी बनाया था, उनमे अधिकांश नेताओं ने चुनाव में मिली हार के बाद क्षेत्र में झांकना तक छोड़ दिया, ऐसे में उनके सक्रिय होने की कल्पना भी बेमानी है। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि भाजपा के पूर्व प्रत्याशी यदि अपने क्षेत्रों में सक्रिय रहते तो पार्टी को कम से कम चुनाव प्रचार में तो जरूर सहूलियत होती।

 खासकर आम आदमी पार्टी के सामने आने के बाद तो दिल्ली के राजनीतिक समीकरण ही बदल गए हैं। अब पार्टी इस कोशिश में लगी है कि ऐसे नेता को प्रत्याशी बनाया जाए, जिसे लेकर लोगों के बीच विपक्षी पार्टियां ज्यादा ऊंगली न उठा सके।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You