मोदी और राजनाथ के सहारे भाजपा UP में पार करेगी चुनावी बैतरणी

  • मोदी और राजनाथ के सहारे भाजपा UP में पार करेगी चुनावी बैतरणी
You Are HereNational
Sunday, March 16, 2014-12:05 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह समेत कई कद्दावर नेताओं को एक सोची समझी रणनीति के तहत उत्तर प्रदेश से लड़ाकर लोकसभा चुनाव में अपनी नैया पार लगाने की कोशिश की है।

भाजपा की कल देर रात जारी 53 उम्मीदवारों की सूची में कई वरिष्ठ नेताओं के टिकट काटे गए। कुछ दलबदलुओं को झटका दिया गया तो जीत के उम्मीद के साथ डाक्टर मुरली मनोहर जोशी और राजनाथ सिंह समेत कुछ उम्मीदवारों की सीटों में परिवर्तन किया गया।

आंतरिक झंझावातों के बीच जारी हुई सूची में इस बात का पूरा ख्याल रखा गया है कि उत्तर प्रदेश की कुल 80 सीटों में से अधिक से अधिक पर जीत हासिल कर केन्द्र में सरकार बनाई जाए। इसके लिए जहां मोदी को इस प्रदेश से उम्मीदवार बनाया गया है वहीं वरुण गांधी। उनकी मां मेनका गांधी की सीटों में भी परिवर्तन कर दिया गया।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के स्थान पर उनके बेटे राजवीर सिंह को टिकट देकर पार्टी ने पुराने कार्यकर्ताओं की रायशुमारी किए जाने का भी संदेश दिया है। इस राज्य के एक छोर वाराणसी में जहां मोदी चुनाव लड़ेंगे। उन्हीं से थोडी दूर सुलतानपुर में वरुण गांधी होंगे। मध्य में राजनाथ सिंह और दूसरे छोर पर तेज तर्रार एवं मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती झांसी से चुनाव लड़ रही हैं। यह सीटें एक तारतम्य में हैं। यह अपने आसपास के सीटों को भी लाभ पहुंचा सकती हैं।

लोकसभा के 2009 के चुनाव में सुलतानपुर सीट से भाजपा प्रत्याशी को मात्र 44424 मत हासिल हुए थे। वरुण गांधी के लडऩे से भाजपा की सीटों में एक सीट के इजाफा होने की संभावना बढ़ गई है। देवरिया में भाजपा उम्मीदवार को गत चुनाव में करारी शिकस्त मिली थी। इस बार पार्टी के कद्दावर नेता कलराज मिश्र को टिकट देकर जीतने की संभावना को बल दिया गया है।

इसी तरह झांसी में भाजपा के उम्मीदवार को गत चुनाव में मात्र 79 हजार मत हासिल हुए थे। इस बार उमा भारती को वहां से प्रत्याशी घोषित करके पार्टी ने एक सीट और अपनी झोली में डालने की कोशिश की है। इन प्रयोगों से लगता है कि पार्टी ने जिसे जीत मिले उसी को चुनाव लड़ाने का मन बनाया। पार्टी में कई लोगों को शामिल किया लेकिन उनमें से कई को टिकट नहीं दिया गया। समाजवादी पार्टी से भाजपा में आए ब्रजभूषण शरण सिंह कांग्रेस छोडऩे वाले जगदम्बिका पाल और पूर्व सांसद कीॢतवर्धन का नाम उम्मीदवारों की सूची में नहीं आने से इन्हें भी झटका देने का प्रयास किया गया है हालांकि उत्तर प्रदेश की सभी सीटों पर भाजपा ने अभी उम्मीदवार घोषित नहीं किए हैं।

भदोही के रामरती ङ्क्षबद, पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत चन्द्रशेखर के पुत्र पंकज शेखर, लालगंज (सु) से पूर्व सांसद दरोगा सरोज, पूर्व मंत्री फागू चौहान और बालकृष्ण चौहान को शामिल तो किया गया लेकिन इन्हें टिकट नहीं दिया गया।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You