हैवानियत का खेल, निर्वस्त्र कर पूरे गांव में निकाला जुलूस

  • हैवानियत का खेल, निर्वस्त्र कर पूरे गांव में निकाला जुलूस
You Are HereNational
Tuesday, March 18, 2014-10:10 AM

छत्तीसगढ: छत्तीसगढ़ के जांजगीर इलाके में एक युवक द्वारा युवती को भगा ले जाने की सजा उसकी मां को निर्वस्त्र कर के दी गई। युवती के परिजनों ने महिला को निर्वस्त्र कर उसकी पिटाई की और फिर उसी हालत में उसका पूरे गांव में जुलूस निकाला। पीड़ित महिला ने न्याय के लिए थाने का दरवाजा खटखटाया, लेकिन पुलिस मामला दर्ज करने के बजाय महिला पर समझौता करने का दबाव बना रही है। थाने से न्याय नहीं मिलने पर महिला ने मामले की शिकायत एसपी से की है।

पीड़ित महिला ने शिकायत में बताया है कि बीते 10 मार्च की शाम इसी दौरान गांव का डहुकलाल सारथी, जोसिक, टीकाराम, पुनाउ, जगदीश, प्रेमकुमारी, मुनुदाई, सावित्री, कौशिल्या, सुनीता, शुभकुमारी, दीनदयाल ने उसके घर आकर मारपीट की। उसे घसीटते हुए अपने घर ले गए। वहां उसे निर्वस्त्र कर गाली-गलौज की।

पीड़ित महिला के अनुसार उसका बेटा अगस्त 2013 में डहुकलाल की बेटी को भगाकर अपने साथ जम्मू-कश्मीर ले गया था। वह युवती को गांव छोड़कर जम्मू भाग गया। डहुकलाल और उसके परिजन बेटे को बुलाने के लिए दबाब डाल रहे थे। डभरा के टीआई धन्नू यादव का कहना है कि यह मामला प्रेम प्रसंग का है। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में विवाद होता रहता था। महिला के साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है, जो वह बता रही है। महिला झूठ बोल रही है।

वहीं, सरपंच रामसिंह सिदार का कहना है कि महिला के साथ ज्यादती हुई है। मामले की जानकारी मिली तो मैं पीडिता के घर गया था। महिला के कपड़े फटे हुए थे। उसका साथ देने मैं एसपी कार्यालय भी गया। वहीं, शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एएसपी अग्रवाल ने मामले की जांच के लिए डभरा पुलिस को निर्देशित किया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You