चारधाम मार्ग में भूस्खलन, जनजीवन प्रभावित

  • चारधाम मार्ग में भूस्खलन, जनजीवन प्रभावित
You Are HereNational
Wednesday, March 19, 2014-11:44 AM

देहरादून: होली के दिन चटक धूप के बाद मंगलवार को सुबह एकाएक तेज बारिश और पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी ने ठंडक लौटा दी। होली के दिन सुबह तेज हवाएं और बादल छाने के बाद आखिरकार तेज धूप खिल गई और लोगों ने जमकर होली खेली लेकिन मंगलवार सुबह तेज बौछारें शुरू हो गईं।

हालांकि 2 दिन से धीरे-धीरे दस्तक दे रही गर्मी से लोगों ने राहत महसूस की, लेकिन किसान निराश रहे। बारिश के साथ तेज हवाएं भी चली जिससे किसानों के खेतों में गेहूं की फसल भी गिर गई। ऊंचाई वाले स्थानों पर हिमपात भी हुआ। कई हिस्सों में आंधी-तूफान और वर्षा से सीधा असर जनजीवन पर पड़ा। बारिश से मसूरी में ठंडक लौट आई है। मसूरी के धनोल्टी क्षेत्र में नगुड़ के डंडोली गांव में आकाशीय बिजली गिर गई जिससे 2 मवेशी मर गए। कुछ मकानों के क्षतिग्रस्त होने की भी खबर है। श्रीनगर में एक बड़ा पेड़ गिर गया जिससे कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं।

रुद्रप्रयाग जनपद के चारधाम मार्ग सिरौबगड़ में तेज बारिश के चलते भूस्खलन से राजमार्ग कई घंटे अवरुद्ध रहा। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में मौसम एक बार फिर करवट बदल सकता है। जड़ी बूटी शोध संस्थान के पूर्व निदेशक डा. एस.एस. मिश्रा का कहना है कि ऋतु परिवर्तन के समय इस तरह की बारिश का निश्चित तौर पर काश्तकारों को नुक्सान उठाना पड़ सकता है। इसके अलावा फल, सब्जी अथवा अनाज की गुणवत्ता पर भी असर पड़ता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You