भाजपा में बाहरी प्रत्याशी पर कार्यकर्ता पड़ रहे हैं भारी

  • भाजपा में बाहरी प्रत्याशी पर कार्यकर्ता पड़ रहे हैं भारी
You Are HereNcr
Wednesday, March 19, 2014-11:32 PM

नई दिल्ली(सतेन्द्र त्रिपाठी): 5 साल बाद मोदी लहर का सहारा लेकर दिल्ली फतह करने निकली भाजपा अपने ही घर में घिरती हुई नजर आ रही है। प्रदेश अध्यक्ष अपनी जीत सुनिश्चित करने में लगे हुए हैं। पार्टी में हो रहे बवाल पर उनकी नजर ही नहीं पड़ रही है।

खासतौर पर 2 सीटों पर बाहरी उम्मीदवारों को लेकर चल रहा हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा है। उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से प्रत्याशी मनोज तिवारी के 2 जगह पर पुतले भी फूंके गए। सोशल साइट्स पर उनके खिलाफ जमकर जहर उगला जा रहा है। उत्तर पश्चिम दिल्ली सीट से उदित राज के खिलाफ भी कार्यकत्र्ता जमकर विरोध कर रहे हैं।

इस बवाल पर भाजपा का कहना है कि यह ड्रामा कांग्रेस प्रेरित है। किसी उम्मीदवार का कोई विरोध नहीं है। विरोध करने वाले भाजपा कार्यकत्र्ता ही नहीं है। पिछले चुनाव में भाजपा सातों सीटें गंवाने के बाद इस बार चमत्कार करने में जुटे नेताओं को तगड़ा झटका लगा है। खासकर 2 सीटों पर स्थिति ज्यादा बिगड़ रही है।

 उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट पर बुधवार को 2 जगहों पर प्रत्याशी मनोज तिवारी का पूतला फूंका गया। यहां खुद को भाजपा समर्थक बताने वाले साध समाज यमुना विहार नाम के संगठन ने मेन रोड पर जमकर हंगामा किया। इन लोगों ने प्रत्याशी का पूतला जलाया। संगठन का कहना है कि अगर बाहरी उम्मीदवार वापस नहीं हुआ तो विरोध चालू रहेगा। इतना ही नहीं चुनाव वाले दिन अनशन किया जाएगा। दूसरा विरोध प्रदर्शन घौंडा चौक पर हुआ।

यहां संदीप आहूजा के नेतृत्व में कार्यकत्र्ताओं ने पूतला फूंका। इन लोगों का कहना है कि प्रत्याशी हमारे बीच से होना चाहिए, जिसे हमारी समस्याओं की जानकारी हो, जिसे कुछ पता नहीं होगा तो वह करेगा क्या। मनोज के खिलाफ सोशल साइट्स पर उनकी फिल्मों में दृश्य निकालकर यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि वह महिला विरोधी हैं। वह कितनी पार्टी बदल चुके हैं। उत्तर पश्चिमी दिल्ली सीट पर उदित राज के विरोध में कार्यकत्र्ताओं का कहना है कि 20 दिन में वह कार्यकत्र्ताओं को ही नहीं जान पाएंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You