बिजली कंपनी नहीं कर रही जांच में सहयोग

  • बिजली कंपनी नहीं कर रही जांच में सहयोग
You Are HereNcr
Thursday, March 20, 2014-12:37 AM

नई दिल्ली :3 निजी बिजली कंपनियों के खातों की कैग द्वारा जांच किए जाने के मामले में बुधवार को दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष कैग ने बताया कि बिजली कंपनी जांच में सहयोग नहीं कर रही हैं।

न्यायमूर्ति मनमोहन की खंडपीठ ने कहा कि उनके द्वारा पूर्व में दिया गया अंतरिम आदेश अभी लागू रहेगा,जिसमें कैग को कहा गया था कि वह ऑडिट करे और कंपनी  उसका सहयोग करेंगी। हालांकि इस  आदेश के साथ ही कैग को निर्देश दिया गया था कि फिलहाल वह अपनी रिपोर्ट दायर न करें।


खंडपीठ ने कहा है कि बिजली कंपनी व कैग इस मामले में अगली सुनवाई पर फिर से अपना जवाब दायर करें। अब इस मामले की सुनवाई 16 मई को होगी।


पूर्व में न्यायालय ने दिल्ली सरकार के उस पर फैसले पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था,  जिसमें इन कंपनियों का ऑडिट कैग से कराने की बात कही गई थी। इसी आदेश को तीन बिजली कंपनियों  बी.एस.ई.एस राजधानी पावर लिमटेड, बी.एस.ई.एस यमुना पावर लिमटेड  ऑफ रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप व टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रब्यूशन लिमटेड ने न्यायालय में चुनौती दी थी।  कंपनियों का कहना है कि कैग को उनके खातों की जांच करने का कोई अधिकार नहीं है, जबकि  दिल्ली सरकार ने इन तीनों कंपनियों की जांच के आदेश दिए थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You