एकीकृत परिवहन प्राधिकरण नहीं होने से शहर को नुकसान हो रहा है: डीएमआरसी एमडी

  • एकीकृत परिवहन प्राधिकरण नहीं होने से शहर को नुकसान हो रहा है: डीएमआरसी एमडी
You Are HereNational
Friday, March 21, 2014-4:26 PM

 नई दिल्ली : दिल्ली मेट्रो रेल निगम  के प्रमुख मंगू सिंह ने आज कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में परिवहन प्रणाली के नियमन के लिए कोई एकीकृत प्राधिकरण के अभाव के कारण आर्थिक एवं पर्यावरण संबंधी समस्याएं पैदा हो रही हंै जिनसे एक प्रभावशाली सार्वजनिक परिवहन प्रणाली से ही निपटा जा सकता है।


उन्होंने कहा कि शहरों में यातायात की औसत गति के आधार पर हम कह सकते हैं कि हम बैलगाड़ी युग में लौट गए हैं। सिंह ने कहा, ‘‘ हमारे शहर में गैर प्रभावी परिवहन प्रणाली हमारी अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक है क्योंकि लोगों के काम करने के कई घंटे आने जाने में ही व्यर्थ हो जाते हैं। :साथ ही: प्रदूषण भी बहुत अधिक है। एक समग्र एकीकृत परिवहन प्राधिकरण का अभाव है।’’

 डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक ने भारतीय उद्योग परिसंघ :सीआईआई: द्वारा मेट्रो और लाइट रेल पर विशेष ध्यान के साथ शहरी जन परिवहन पर आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में कहा , ‘‘ दिल्ली को कौन नियंत्रित कर रहा है?... यह बड़ी समस्या है। यहां कोई एकीकृत प्रधिकरण नहीं है। इसका समाधान प्रभावशाली सार्वजनिक परिवहन प्रणाली ही है।’’

 सिंह ने प्रभावशाली कार्यप्रणाली के लिए डीएमआरसी की प्रशंसा की क्योंकि यह 190 किलोमीटर की मेट्रो प्रणाली का संचालन करता है जिसमें रोजाना 26 लाख से अधिक यात्री सफर करते हैं। उन्होंने कहा कि डीएमआरसी के नक्शेकदम पर चलते हुए जयपुर, कोच्चि, हैदराबाद, लखनउ और पुणे जैसे शहर भी अपनी खुद की मेट्रो प्रणालियों की योजना बना रहे है। लेकिन इन नेटवर्कों के निर्माण की गति को तेज करने की आवश्यकता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You