फर्जी प्रमाण पत्र से चपरासी से बना शिक्षक

  • फर्जी प्रमाण पत्र से चपरासी से बना शिक्षक
You Are HereNcr
Saturday, March 22, 2014-12:19 PM

नई दिल्ली(सतेन्द्र त्रिपाठी): चपरासी के पद पर तैनात एक शक्स फर्जी प्रमाण पत्र के सहारे स्कूल में शिक्षक बन गया लेकिन गुरुजी का यह फर्जीवाड़ा ज्यादा दिन चल नहीं पाया। गुरु की इस करतूत पर शिक्षा विभाग की नजर पड़ गई। शिक्षा विभाग ने अपनी जांच में इस फर्जीवाड़े को पकड़ लिया।


इसे गंभीरता से लेते हुए  शिक्षा निदेशक ने आदेश दिया कि स्कूल प्रबंधन आरोपी शिक्षक के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज कराए। इतना ही नहीं उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर अनुशासानत्मक कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही शिक्षक को दी जानी वाली ग्रांट भी रोकी जाए। ग्रांट तो रुक गई लेकिन अन्य आदेश पर अमल नहीं हो पाया है। स्कूल प्रबंधन ने विभाग को बताया है कि विश्वविद्यालय से वैरीफिकेशन रिपोर्ट आने तक शिक्षक के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया जाएगा।


रघुवीर नगर स्थित हनुमान संस्कृत महाविद्यालय में कार्यरत एक सहायक शिक्षक के खिलाफ शिकायत की गई थी उसने यह नौकरी फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे पाई है। शिक्षा विभाग की जांच रिपोर्ट 7 दिसंबर 2013 के मुताबिक शिक्षा अधिकारी अनीमा होरो, कमलेश कौर चौहान, मादीपुर एस.बी.वी. स्कूल के पिं्रसीपल यू.डी. ओझा की टीम ने जांच की। इसमें पाया गया कि आरोपी शिक्षक ने 1988 में इसी स्कूल में चपरासी की नौकरी शुरू की थी। उसने 8वीं पास का जानकारी दी थी लेकिन वह 1985 व 1987 में वह 10वीं व 12वीं पास हो गए।


इतना ही नहीं 1989 में उसने संपूर्णानंद विश्वविद्यालय वाराणसी शाी की परीक्षा भी पास कर ली। इसी दौरान 1997 में उसे सहायक शिक्षक के पद पर पदोन्नति भी दे दी गई। जांच टीम ने जब इस पदोन्नति की मीटिंग के मिनट्स मांगे तो वह स्कूल उपलब्ध नहीं करा पाया। इतना ही नहीं आरोपी की सर्विस बुक में उसकी 10वीं व 12वीं पास करने की बात भी नहीं चढ़ाई गई थी।


स्कूल वह रिपोर्ट भी नहीं दे पाया, जिसमें उसकी शाी डिग्री का वैरीफिकेशन विश्वविद्यालय द्वारा पोस्ट से आना दिखाया गया था। शिक्षक ने जांच टीम के सामने पेश होकर अपनी बात रखी। जांच टीम ने पाया कि शिक्षक 1989 में शाी परीक्षा में फेल हुआ था। इतना ही नहीं पेपर एक व पेपर दो की मार्कशीट में फर्जीवाड़ा किया गया था। मार्कशाटी में 36 व 35 अंक दिखाए गए थे, जबकि असली नंबर 21 व 25 आए थे। कुल नंबर 516 दिखाए गए, जबकि आए 491 थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You