दिल्ली में दहाड़ पाएगा महाराष्ट्र का शेर?

  • दिल्ली में दहाड़ पाएगा महाराष्ट्र का शेर?
You Are HereNational
Saturday, March 22, 2014-1:39 PM

नई दिल्ली (अशोक शर्मा): शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के निर्देश पर महाराष्ट्र का शेर दिल्ली की ओर निकल पड़ा है लेकिन यहां तक पहुंच पाएगा, इसे लेकर संदेह व्यक्त किया जा रहा है।

भाजपा और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे के बीच मेल-मिलाप से नाराज होकर शिव सेना ने बेशक दिल्ली की सातों सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारने का एलान कर दिया  है लेकिन इसे जल्दबाजी और बदला लेने की नीयत से उठाया गया कदम माना जा रहा है।

ऐसा नहीं है कि शिव सेना ने इस प्रकार की घोषणा पहली बार की है, इससे पहले भी इस तरह की घोषणाएं की गईं थी लेकिन दिल्ली में उसका ठोस आधार नहीं बन सका। इसकी खास वजह यह रही कि दिल्ली में हमेशा लोकसभा, विधानसभा और नगर निगम के चुनाव सीधे तौर पर कांग्रेस और भाजपा के उम्मीदवारों के बीच ही होते रहा।

यह पहला मौका था कि जब आम आदमी पार्टी ने पहली बार चुनाव में उतरकर कुछ कर दिखाया लेकिन शिव सेना का दिल्ली में कभी कोई खास पकड़ नहीं रही। शिवसेना ने दिल्ली नगर निगम के चुनाव में कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार तो खड़े किए लेकिन उनमें से एक भी उम्मीदवार चुनाव जीतने में कामयाबी हासिल नहीं कर सका।


पहले भी हुई है कोशिश
दिल्ली में शिव सेना का संगठन तो था और उसकी कमान जयभगवान गोयल ने संभाल रखी थी। वह भी दिल्ली में ही नहीं बल्कि उत्तर-भारत में संगठन का परचम लहराने के लिए 21 साल तक काफी काम करते रहे लेकिन एक भी पार्षद या विधायक शिव सेना के टिकट पर चुनाव लड़कर जीत दर्ज नहीं करवा सका।

गोयल कुछ दिन पहले ही अपने कार्यकत्र्ताओं के साथ भाजपा में शामिल हो चुके हैं। गोयल का कहना है कि सच्चाई यह है कि शिव सेना केवल महाराष्ट्र तक सिमटी हुई है। पार्टी के नेताओं ने संगठन को महाराष्ट्र से बाहर मजबूत बनाने की ओर कभी ध्यान नहीं दिया। उनका कहना है कि आज की स्थिति में दिल्ली में न तो शिव सेना का कोई संगठन ही है और न ही कोई आधार नहीं है।

आखिर किस आधार पर सेना के नेता दिल्ली की सातों सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करने की बात कर रहे है। याद रहे कि शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत ने शुक्रवार को इस आश्य की घोषणा की है कि भाजपा और शिव सेना का गठबंधन केवल महाराष्ट्र में है। हम देश के अन्य भागों में पार्टी का प्रचार करने की दिशा में काम करेंगे।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You