क्या चुनावी समर की तस्वीर बदल पाएंगे फिल्मी कलाकार ?

  • क्या चुनावी समर की तस्वीर बदल पाएंगे फिल्मी कलाकार ?
You Are HereNational
Sunday, March 23, 2014-2:31 PM

नर्इ दिल्ली: लोकसभा चुनाव में विभिन्न राजनीतिक दलों के केंद्र में सत्ता हासिल करने की जद्दोजहद के बीच शत्रुघ्न सिन्हा, राज बब्बर, हेमा मालिनी के साथ अभिनय से राजनीति में कदम रखने वाली किरण खेर, गुल पनाग, मुनमुन सेन, पवन कल्याण जैसे नये कलाकार सत्ता की दौड़ में ग्लैमर का तड़का लगा रहे हैं।

फिल्मी कलाकारों का राजनीति में कदम रखना कोई नयी बात नहीं है लेकिन दक्षिण भारत की तुलना में उत्तर भारत में यह चलन सफल नहीं रहा है।

तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के लोगों में फिल्मी कलाकारों के प्रति जबर्दस्त आकर्षण देखा गया है और इन प्रदेशों के लोगों ने एन टी रामाराव और एम जी रामचंद्रन जैसे फिल्मी दुनिया के शीर्ष कलाकारों को सत्ता की कुंजी सौंपी भी लेकिन अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना, धर्मेन्द्र और गोविंदा पूरे गाजेबाजे के साथ राजनीति में आए लेकिन बीच में ही इसे छोड़ गए।
 
इस चुनाव में यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि सितारों की जबर्दस्त संख्या क्या अपना जलवा दिखा पाती है और राजनीति में प्रभाव छोड़ पाती है?
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You