वैष्णो देवी में प्राकृतिक गुफा के कपाट हुए बंद

  • वैष्णो देवी में प्राकृतिक गुफा के कपाट हुए बंद
You Are HereNational
Monday, March 24, 2014-10:50 AM

कटड़ा: पिछले पखवाड़े में वैष्णो देवी जी के दर्शनों हेतु आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिल रही थी जिसके चलते आधार शिविर कटड़ा के अधिकतर होटल, गैस्ट हाऊस और धर्मशालाएं सूनी-सूनी पड़ी हुई थीं।

वहीं बाजारों में भी इक्का-दुक्का श्रद्धालु ही खरीदारी करते नजर आते थे और व्यापारी वर्ग काफी चिंतित नजर आ रहा था परंतु पिछले सप्ताह से यात्रा में निरंतर वृद्धि होने लगी है और प्रतिदिन 25 से 28 हजार श्रद्धालुओं की संख्या बढऩे से बाजारों में खूब चहल-पहल नजर आ रही है और होटल, गैस्ट हाऊस भी श्रद्धालुओं से गुलजार नजर आ रहे हैं।

श्रद्धालुओं की संख्या में हुई बढ़ौतरी के कारण बोर्ड प्रशासन ने प्राकृतिक गुफा को बंद कर दिया है और श्रद्धालु अब तीनों कृत्रिम गुफाओं से मां की भव्य पिंडियों के दर्शन कर रहे हैं।

गौरतलब है कि बोर्ड प्रशासन प्रतिवर्ष श्रद्धालुओं की भीड़ में कमी आने पर विशेषकर जनवरी व फरवरी माह में प्राकृतिक गुफा के कपाट खोल देता है। परंतु जैसे ही भीड़ में इजाफा होता है तो गुफा को बंद कर दिया जाता है।

वहीं श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ के कारण व्यापारी वर्ग पूरी तरह खुश नजर आ रहा है। श्राइन बोर्ड प्रशासन यात्रा पर्ची काऊंटर के अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार पिछले एक सप्ताह में जहां 15 मार्च 30021, 16 मार्च 40247, 17 मार्च 28574, 19 मार्च 25900, 20 मार्च 23,942, 21 मार्च 25180, 22 मार्च 33,733, 23 मार्च समाचार लिखे जाने तक 22 हजार श्रद्धालु मां वैष्णो देवी जी की भव्य पिंडियों के दर्शन कर चुके थे।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You