उप्र. में फिल्म स्टारों को भा रही सियासी फिजा

  • उप्र. में फिल्म स्टारों को भा रही सियासी फिजा
You Are HereUttar Pradesh
Monday, March 24, 2014-5:45 PM

वाराणसी: देश में 16वीं लोकसभा का चुनावी बिगुल बजने के साथ ही एक से बढ़कर एक नेता और अभिनेता राजनीति की पिच पर उतरकर हाथ आजमाने को तैयार हैं। इसी कश्मकश में उत्तर प्रदेश की चुनावी जंग में इस बार कई फिल्म स्टार भी अभिनेता से नेता बनने के लिए मैदान में उतर चुके हैं। इनमें से कितने अभिनेता से नेता बनकर लोकतंत्र के मंदिर में पहुंचने में कामयाब हो पाते हैं, यह देखना काफी दिलचस्प होगा। उप्र की सियासी फिजा हमेशा से ही फिल्म स्टारों को अपनी ओर आकर्षित करती रही है। इस बार बॉलीवुड की अदाकारा हेमा मालिनी से लेकर भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन भी अभिनेता से नेता बनने के लिए मैदान में उतरे हैं।

हेमा मालिनी को भाजपा ने इस बार मथुरा लोकसभा सीट से उतारा है। मथुरा को रालोद का गढ़ माना जाता है, लेकिन हेमा मालिनी को प्रत्याशी बनाकर भाजपा ने रालोद के गढ़ में सेंधमारी की कोशिश की है। चौधरी अजित सिंह के पुत्र जयंत चौधरी फिलहाल मथुरा से सांसद हैं और इस बार भी वह रालोद के प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे हैं। मथुरा संसदीय सीट पर मुकाबला दिलचस्प होने वाला है।
अटकलें यह भी हैं कि हेमा के पुत्र सनी देओल और बॉबी देओल भी मां के प्रचार के लिए मथुरा में रोड शो कर सकते हैं। सनी देओल हाल ही में बागपत में भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह के पक्ष में रोड शो कर चुके हैं।

रालोद के प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चौहान कहते हैं, मथुरा में हेमा मालिनी का कोई असर नहीं है। हेमा के आने से उल्टे जाट बिरादरी भाजपा से नाराज हो गई है। भाजपा का यह दांव उल्टा पड़ गया है। लोगों को लग रहा है कि हेमा जीतने के बाद दोबारा मथुरा लौटकर नहीं आएंगी। हेमा के अलावा फिल्म अभिनेत्री नगमा भी इस बार उप्र से ही चुनाव मैदान में हैं। इस बार कांग्रेस ने नगमा को मेरठ से उम्मीदवार बनाया है। मेरठ को भाजपा का गढ़ माना जाता है। भाजपा ने राजेंद्र अग्रवाल को यहां से मैदान में उतारा है।

पिछले आम चुनाव में अग्रवाल को यहां से जीत मिली थी। नगमा के मैदान में आने से मेरठ का परिणाम प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है। नगमा ने मेरठ में रोड शो के जरिये लोगों से संपर्क बनाने का सिलसिला बनाना शुरू कर दिया है। नगमा के आने से यहां की लड़ाई काफी दिलचस्प हो गई है। मेरठ में नगमा की उम्मीदवारी को लेकर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता चंद्रमोहन सिंह कहते हैं, ‘‘नगमा के आने से मेरठ में भाजपा के लिए कोई चिंता की बात नहीं है। भाजपा यहां पहले से भी अधिक मतों से चुनाव जीतेगी।’’ इस बीच, भोजपुरी फिल्मों के सुपर स्टार कहे जाने वाले रवि किशन भी अभिनेता से नेता बनने की कतार में हैं। कांग्रेस ने उन्हें इस बार पूर्वांचल की प्रतिष्ठित लोकसभा सीट जौनपुर से अपना प्रत्याशी बनाया है।

कांग्रेस को उम्मीद है कि भोजपुरी भाषी इलाके में रवि किशन की लोकप्रियता को पार्टी भुना सकती है। पूरे पूर्वांचल में रवि किशन के लाखों प्रशंसक मौजूद हैं। रवि की राह हालांकि इतनी आसान भी नहीं है। इनके अलावा कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर गाजियाबाद से और फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा बिजनौर से रालोद की प्रत्याशी हैं। जया प्रदा पिछली बार रामपुर से सांसद थीं, लेकिन पिछले दिनों वह रालोद में शामिल हो गईं। रालोद सूत्रों की मानें तो मुजफ्फरनगर में हुए दंगे के बाद रालोद को जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई के लिए ही जया प्रदा जैसी शख्सियत को बिजनौर से उतारा जा रहा है, ताकि उनकी लोकप्रियता का फायदा पार्टी को मिल सके।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You