पहली बार मतदान करने वाले और युवा मतदाताओं पर राजनीतिक दलों की पैनी नजर

  • पहली बार मतदान करने वाले और युवा मतदाताओं पर राजनीतिक दलों की पैनी नजर
You Are HereNcr
Wednesday, March 26, 2014-3:26 PM

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में पहली बार मतदान करने वाले करीब 2.31 करोड़ युवा मतदाताओं पर राजनीतिक दलों की पैनी नजर है और वे इन नये मतदाताओं को अपने पाले में लाने के लिए सोशल मीडिया तथा अन्य सूचना एवं संचार सुविधाओं का उपयोग कर रहे हैं।

 चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, देश के 81.45 करोड़ मतदाताओं में 2.31 करोड़ की आयु 18..19 वर्ष के बीच है जो कुल मतदाताओं का 2.8 प्रतिशत है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के 1.27 करोड़ मतदाताओं में 3.37 लाख मतदाताओं की आयु 18..19 वर्ष के बीच हैै। आम चुनाव में एक-एक मतों के महत्व को ध्यान रखते हुए इस युवा वर्ग को अपने पाले में लाने का कोई भी दल मौका नहीं छोडऩा चाहता।

लोकसभा की करीब 30 प्रतिशत सीटों के सोशल मीडिया से प्रभावित होने की रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए राजनीतिक दल लोगों से सम्पर्क के परंपरागत माध्यमों के अलावा सूचना एवं संचार सुविधाओं का जबर्दस्त उपयोग कर रहे हैं।भाजपा उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने ‘भाषा’ से कहा, ‘‘पार्टी चुनाव प्रचार के परंपरागत तरीके पर ही ज्यादा जोर दे रही है। इसमें कोई बदलाव नहीं आया है।

सोशल मीडिया से युवा काफी संख्या में जुड़े है और चुनाव में इस वर्ग का काफी महत्व है । इस वर्ग से सम्पर्क के लिए हम इंटरनेट, फेसबुक, ट्विटर आदि को आगे बढ़ा रहे हैं।’’  सोशल मीडिया के जरिए युवाओं तक पहुंचने के प्रयास के तहत भाजपा ने ‘मिशन 272 प्लस’ के तहत 60 स्वयंसेवकों की एक टीम बनायी हैै। इन्हें दो लाख लोगों में से चुना गया है।  राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने भी ‘युवा जोश..’’ जैसे अभियान के साथ युवाओं को जोडऩे की पहल की है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You