‘कानून अंधा होता है और सबूतों के आधार पर काम करता है’

  • ‘कानून अंधा होता है और सबूतों के आधार पर काम करता है’
You Are HereUttar Pradesh
Wednesday, March 26, 2014-4:02 PM

लखनऊ: मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के कामकाज पर सवालिया निशान लगाने संबंधी उच्चतम न्यायालय की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए समाजवादी पार्टी ने कहा है कि ‘कानून अंधा होता है और सबूतों के आधार पर काम करता है’। सपा के वरिष्ठ नेता नरेश अग्रवाल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि राज्य सरकार ने दंगे रोकने और उसकेबाद पीड़ितों को राहत एवं उनके पुनर्वास के लिए हर संभव प्रयास किये थे। अग्रवाल ने कहा कि सरकार सत्यता के आधार पर अपना काम करती है।

उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने मुजफ्फरनगर और उसके आसपास गत वर्ष हुए दंगों को न रोक पाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की नाकामी को जिम्मेदार ठहराया है। इस बीच कई विपक्षी दलों ने मांग की है कि उच्चतम न्यायालय की आज टिप्पणी के मद्देनजर उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You