औचक निरीक्षण से मची अफरा-तफरी

  • औचक निरीक्षण से मची अफरा-तफरी
You Are HereNational
Thursday, March 27, 2014-2:34 PM

नई दिल्ली (दया राम): देहात दिल्ली के नरेला स्थित सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में बुधवार को चिकित्सा सेवाओं का जायजा लेने स्वास्थ्य सचिवालय से आए सचिव विजय कुमार राय और जेवी अग्रवाल पहुंचे। अधिकारियों के औचक निरीक्षण पर पहुंचते ही अस्पताल कर्मचारियों  में हडकंप मच गया। आनन-फानन में कई स्टाफ कर्मी इधर-उधर भागते नजर आए, तो कई व्यवस्था को काबू करने के प्रयास करते दिखाई दिए।  सचिवालय से आए अधिकारियों ने आर्थो, आपातकालीन व सर्जरी वार्ड का दौरा किया। 

कई जगह संतोषजनक स्थिति देखने को मिली तो कई जगह मौजूद स्टाफ  को नियमित रूप से मशीनों की जांच के निर्देश दिए। अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में पहले से बेहतर सुविधाएं देख अधिकारी संतोषजनक महसूस करते दिखाई दिए। साल भर के भीतर यह चौथा दौरा है।

एन.ओ. ने की बातचीत

 गत दिनों नर्सिंग अर्दलियों (एन.ओ.) का ठेका बदलने से कई एन.ओ. को अस्पताल से बाहर कर दिया गया। नस्कासित एन.ओ. ने ठेका पर्यवेक्षक पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए प्रशासन व सचिवालय से आए अधिकारियों को चेताया व ठेका कंपनी के विरोध की धमकी दी।

अलर्ट होना हो जाता है तय

विभागीय सूत्रों ने बताया कि जब आला अधिकारियों का दौरा होना तय होता है तो सब कुछ पहले से बेहतर कर दिया जाता है, ताकि अधिकारियों को कुछ कहने की आवश्यकता न पड़े। बुधवार को आपातकालीन वार्ड में डॉक्टर व अन्य स्टाफ  वर्दी में नजर आए।

मरीजों ने रखी समस्याएं

दौरे के दौरान संजय कॉलोनी निवासी नरेश कुमार ने सचिवालय से आए अधिकारियों को सर्जरी वार्ड में डॉक्टरों की कमी, ई.एन.टी. विभाग के गूगें बहरों के लिए दिए जाने वाले उपकरणों के कैप न लगाए जाने, ई.डब्ल्यू.एस. के मरीजों को परेशानी संबंधी समस्याओं से अवगत कराया। मौके पर अधिकारियों ने जल्द सुविधाएं बढ़ाए जाने का आश्वासन दिया।

 
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You