शादी मे नखरें करने वाली लड़कियों के लिए बुरी खबर!

  • शादी मे नखरें करने वाली लड़कियों के लिए बुरी खबर!
You Are HereNational
Thursday, March 27, 2014-3:50 PM
नई दिल्ली: किसी ने कहा है कि शादी का लडडू वो लडडू है जो खाए वो पछताए जो न खो वो पछताए। कई लड़कियों का मानना है कि शादी जी का जंजाल बन जाता है। इसलिए वह शादी करने की बजाए अकेले रहना ज्यादा पसंद करती है लेकिन उनके लिए एक बुरी खबर है कि कुंआरापन आपके ह्रदय को बहुत नुक्सान पहुंचा सकता है।
 
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा की गई एक स्टडी के अनुसार कुंआरी, तलाकशुदा या विधवा महिलाओं की अपेक्षा शादीशुदा महिलाओं को हार्टअटैक का खतरा कम होता है। इसके बारे में शोधकर्ता सारा फ्लाउड का कहना है कि कुंआरी लड़कियों की अपेक्षा एक मैरिड महिला अकेलेपन को कम महसूस करती है, क्योंकि जब वह अकेलापन महसूस करती है तब वह अपने पार्टनर से बात कर लेती है। 
 
शोधकर्ताओं का कहना है कि हालांकि शादीशुदा महिलाओं में ह्रदय के रोग की समस्या की सम्भावना कम नहीं होती लेकिन उन पर परिवार की जिम्मेदारियां, तनाव ऐसी बहुत सी बातें होती है जिन्हें दूर करने के लिए वह कुंआरी लड़कियों की अपेक्षा समय पर इलाज करवा लेती हैं। जिससे उन्हें ह्रदय संबंधी रोग की समस्याएं कम होती हैं। 
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You