काशी में डुबकी लगाने से पहले ही डर गए दिग्विजय

  • काशी में डुबकी लगाने से पहले ही डर गए दिग्विजय
You Are HereNational
Saturday, March 29, 2014-2:12 PM

नई दिल्ली: 16वीं लोकसभा के चुनाव में उत्तर-प्रदेश की वाराणसी हाई प्रोफाइल सीट बन गई है। काशी का कुरुक्षेत्र इस बार करवट ले रहा है और यहां काफी दिलचस्प मुकाबला होने के आसार हैं। भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि यहां से आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल मोदी को चुनौती देने के लिए चुनावी समर में कूद पड़े हैं। लेकिन कांग्रेस ने अभी तक अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है।

पता चला है कि कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह वाराणसी से चुनाव के लिए पैर पीछे खींच रहे हैं। अभी तक यह चर्चा थी कि भाजपा को टक्कर देने के लिए वाराणसी से कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ व हाजिर जवाब नेता दिग्विजय सिंह को खड़ा कर सकती है लेकिन सूत्रों की मानें तो उन्होने वाराणसी जाने में असमर्थता व्यक्त कर दी है। पार्टी के कई नेता पिछले कई दिनों से यह संकेत दे रहे थे कि वाराणसी सीट पर कांग्रेस की ओर से भाजपा को कड़ी टक्कर दी जाएगी।

इसके लिए संभावित उम्मीदवारों की सूची में पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय का नाम सबसे दमदार बताया जा रहा था। सोनिया गांधी ने कुछ दिन पहले कहा था कि मोदी के खिलाफ दमदार प्रत्याशी को उतारा जाएगा जिसमें लोगों के सुझाव पर दिग्विजय का नाम आया था। उस समय दिग्विजय ने भी मोदी के खिलाफ चुनाव लडऩे की हां कर दी थी। सूत्रों का कहना है कि उनका इरादा बदल गया है। उन्होने साफ तौर पर कहा है कि वह संगठन में ही रहकर काम करना चाहते हैं।

इस बात की जानकारी उन्होने पार्टी के शीर्ष नेताओं को दे दी है। यह पता चलने पर पार्टी के आला नेता वाराणसी सीट पर उम्मीदवार खड़ा करने पर फिर से विचार कर रहे हैं। उम्मीद है पार्टी द्वारा अगले दो दिनों में इस बाबत फैसला ले लिया जाएगा। अब देखना यह है कि आखिर कांग्रेस इस सीट पर कब तक और किस नेता को प्रत्याशी बनाकर चुनाव मैदान में उतारती है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You