चुनाव प्रचार का हाईटैक तरीका

  • चुनाव प्रचार का हाईटैक तरीका
You Are HereNational
Sunday, March 30, 2014-12:09 PM
नई दिल्ली : हाईटैक होते जमाने के साथ चुनाव प्रचार के तरीके भी हाईटैक होते जा रहे हैं। वक्त बदलते तकाजे के साथ पोस्टर-बैनर से आगे निकलकर चुनाव प्रचार सोशल मीडिया तक पहुंच गया और अब यह वायसकॉलिंग तकनीक में भी प्रवेश कर चुका है। लोकसभा चुनाव में भी प्रत्याशी इस तकनीक का जमकर इस्तेमाल कर रहे हैं। 
 
इसलिए आपके मोबाइल पर यदि कोई अजीबो-गरीब नंबर से फोन आए तो घबराने के बजाय, उसे रिसीव कीजिए। फोन रिसीव करते ही आपको प्रत्याशी अपना व अपनी पार्टी के नाम के साथ अपने चुनाव क्षेत्र की जानकारी भी देने लगेंगे।
 
दिलचस्प बात यह है कि यदि वह प्रत्याशी वर्तमान सांसद है तो पिछले 5 वर्षों में किए गए विकास कार्यों की गिनती भी कराने 
लगेगा। यदि पहली बार चुनाव लड़ रहा है तो विरोधी पार्टियों की कमियां उजागर करते हुए खुद के लिए वोट मांगते हैं। 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You