सोनिया की रैली ने पार्टी में फूंकी जान

  • सोनिया की रैली ने पार्टी में फूंकी जान
You Are HereNcr
Monday, March 31, 2014-9:47 AM

नई दिल्ली (ताहिर सिद्दीकी) : पिछले साल दिल्ली विधानसभा चुनावों में मिली करारी शिकस्त से पस्त पड़ी कांग्रेस  ने  राजधानी में रविवार को हुई कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की रैली ने नई जान फूंक दी है। रैली में जुटी अच्छी-खासी भीड़ से कांग्रेसियों की बांछे खिल गई हैं। उन्हें लग रहा है कि अब राजधानी की सातों लोकसभा सीट पर कांग्रेस मजबूत स्थिति में आ गई है। करीब 25 हजार लोगों की भीड़ सोनिया को सुनने के लिए घंटों मैदान में डटी रही।करोलबाग के ऐतिहासिक अजमल खां पार्क में सोनिया की रैली का समय शाम 4.30 बजे तय था लेकिन लोगों का आना दोपहर 12 बजे से ही शुरू हो गया।

हालांकि सुरक्षा के मद्देनजर पब्लिक की एंट्री अंदर 2 बजे के बाद ही शुरू हुई। ऐसे में 2 बजे से पहले रैली स्थल के बाहर पब्लिक का जमघट इस कदर लगा कि सुरक्षाकर्मियों को उन्हें संभालने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। सोनिया गांधी जिंदाबाद, राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाती आने वाली भीड़ की एंट्री जब रैली स्थल में अपराहन 2 बजे से शुरू हुई तो 2 घंटे के अंदर मैदान खचाखच भर गया। ऐसे में सुरक्षाकर्मियों को शाम 4 बजे से 4.30 के बीच मुख्य प्रवेश द्वार को 2 घंटे बंद करना पड़ा।

इससे क्रुद्ध भीड़ ने बाहर जमकर बवाल काटा। इसकी जानकारी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली तक पहुंचायी गई तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने रैली स्थल के सामने और पार्क के पहले लगाए गए लम्बे-चौड़े पर्दे को हटाकर लोगों को पार्क में आने की व्यवस्था करायी। रैली में व्यवस्था संभालने के लिए करीब डेढ़ हजार पार्टी कार्यकत्र्ताओं को लगाया गया था। कांग्रेस सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश्वर त्यागी को व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। 

पब्लिक को लाने के लिए 700 बसें

पिछले साल विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की फीकी रैलियों से सबक लेकर इस बार प्रदेश कांग्रेस ने भीड़ जुटाने के लिए खास तैयारियां की थीं। पार्टी के जिम्मेदार लोगों से 2 टूक भीड़ जुटाकर माहौल बनाने की सख्त हिदायत दी गई थी। सूत्रों की मानें तो राजधानी के विभिन्न इलाकों से लोगों को रैली स्थल तक लाने के लिए 700 बसों का इंतजाम किया गया था।

बसों का इंतजाम प्रदेश संगठन के अलावा राजधानी के सातों सांसदों, हारे-जीते विधायकों, हारे-जीते निगम पार्षदों व जिलाध्यक्षों ने किया था। साथ ही, इस बार आसपास के रिहायशी इलाकों में रहने वाले लोगों को भी सोनिया की रैली में लाने के लिए विशेष प्रयास किए गए। इसके लिए कांग्रेस के स्थानीय पदाधिकारियों ने सबसे अहम भूमिका निभाई। मैट्रो से आने के लिए भी लोगों को मोटिवेट किया गया। 

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

एस.पी.जी. सुरक्षा प्राप्त सोनिया गांधी की रैली की सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए थे। रैली स्थल से करीब एक किलोमीटर पहले से ही मुख्य सड़कों के दोनों ओर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई थी। इसके अलावा रैली स्थल के आसपास की इमारतों की छतों से भी सुरक्षाकर्मी रैली पर पैनी नजर बनाए हुए थे। 

लोग जाम में फंसे

रैली के चलते करोलबाग की सड़कों पर लोग दिनभर जाम से जूझते नजर आए। दोपहर 12 बजे से शाम 7 बजे तक करोलबाग की सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए। आधे घंटे का सफर पूरा करने में लोगों को घंटों लग गए। कई लोग अपने वाहनों में बैठे-बैठे रैली को कोसते नजर आए। 

युवाओं में दम, महिलाओं में जोश

प्रदेश कांग्रेस ने रैली में 35 हजार से 50 हजार के बीच भीड़ जुटाने का लक्ष्य तय किया था लेकिन भीड़ करीब 25 हजार के आसपास जुटी। बावजूद इसके राजधानी में हाल की बड़ी फ्लॉप रैलियों की तुलना में यह रैली काफी कामयाब रही। 

इस कामयाबी में युवाओं की भूमिका खासी अहम रही। रैली में आने वाले लोगों में अच्छी-खासी संख्या युवाओं की थी। माना जा रहा है कि भीड़ में युवाओं की हिस्सेदारी करीब 40 फीसदी रही। सोनिया के भाषण के दौरान उत्साहित युवाओं ने जमकर सोनिया के जयकारे लगाए। युवाओं की नारेबाजी से रैली स्थल रह-रहकर गुंजायमान होता रहा है।

सोनिया गांधी के प्रति एकजुटता दिखाने में महिलाएं भी पीछे नहीं थीं। महिलाएं अच्छी संख्या में सोनिया को सुनने के लिए रैली में आई थीं। 

महिलाओं को रैली स्थल तक लाने में प्रदेश महिला मोर्चा ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी। गले में कांग्रेस का सिम्बल लपेटे महिलाओं का उत्साह सोनिया गांधी के रैली स्थल पर पहुंचते ही दोगुना हो गया। अपनी कुर्सियां छोड़कर महिलाएं सोनिया को नजदीक से देखने के लिए आगे की ओर लपकीं तो थोड़ी देर के लिए अव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई लेकिन रैली स्थल के अंदर तैनात सुरक्षाकर्मियों व पार्टी कार्यकर्ताओं ने हालात को संभाल लिया।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You