नवरात्र और चुनाव प्रचार में 3 देवियां

  • नवरात्र और चुनाव प्रचार में 3 देवियां
You Are HereNational
Monday, March 31, 2014-10:34 AM

नई दिल्ली(अशोक शर्मा) : दिल्ली में लोग आजकल 3 तरह से मौसम का आनंद ले रहे हैं। सर्दी, गर्मी और बरसात। कुछ इसी तरह से सोमवार से शुरू हो रहे चैत्रीय नवरात्र में दिल्ली के चुनावी मैदान में कूदकर अपने प्रतिद्वंद्वियों को टक्कर दे रही 3 देवियां खास अंदाज में दिखेंगी। 

इनमें से 2 देवियां केंद्रीय मंत्री कृष्णा तीरथ (कांग्रेस और दिल्ली की पूर्व मंत्री राखी बिड़लान (आप) की प्रत्याशी बनकर उत्तर-पश्चिम संसदीय सीट पर कब्जा करने के लिए संघर्षरत हैं, जबकि इन देवियों को परास्त करने के लिए भाजपा के उदित राज उन्हें चुनौती दिए हुए हैं। खास बात यह है कि इनमें से एक देवी कृष्णा तीरथ अक्सर नवरात्र में व्रत रखती रही हैं लेकिन देखना है कि चुनावी माहौल में दिनभर चलने वाली दौड़ धूप को ध्यान में रखते हुए वह इस बार 9 दिनों तक व्रत रख पाएंगी या केवल भगवती की पूजा-आराधना ही कर पाएंगी।

वैसे शारदीय नवरात्र के दौरान वह कभी ऐतिहासिक झँडेवालान मंदिर और कभी कालकाजी स्थित मां कालिका मंदिर में जाकर रोजाना आराधना कर मत्था टेकती रही हैं। देखना है कि इस बार उनकी दिनचर्या क्या रहती है। वैसे उनके परिवार के लोगों का तो यही कहना है कि कृष्णा को व्रत रखने से रोकने के लिए कोई नहीं कह पाएगा।

नई दिल्ली सीट से भाजपा की प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी भी हर बार नवरात्र में प्रतिदिन पूजा और व्रत रखती रही हैं। देखना होगा कि चुनावी घमासान में वह इसका कितना पालन कर पाती हैं। उन्हें टक्कर दे रहे कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन भी नवरात्र में मंदिर जाकर पूजा करते रहे हैं। 

इसके साथ ही यमुनापार के उत्तर-पूर्वी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी जयप्रकाश अग्रवाल भी नवरात्र के दौरान व्रत रखते हैं और वह भी प्रतिदिन कालिका मंदिर में जाकर मत्था टेकते रहे हैं। उनका कहना है कि वह चुनाव प्रचार में अपनी इस धार्मिक परंपरा का पूरी निष्ठा और विश्वास के साथ निर्वाह करेंगे। उनका कहना है कि चाहे कुछ भी हो जाए, नवरात्र के दौरान किसी भी सूरत में मंदिर जाकर पूजा करने में कोई चूक नहीं करेंगे। 

नेता जुट जाते हैं पूजापाठ में 

दक्षिण दिल्ली सीट से भाजपा के प्रत्याशी रमेश बिधूड़ी भी मां भगवती के अनन्य भक्त हैं। उनका कहना है कि पूजा-आराधना करने से मुझे एक शक्ति मिलती है और वही चुनाव प्रचार में मेरा साथ दे रही है। बिधूड़ी का कहना है कि चुनाव प्रचार के साथ-साथ वह नवरात्र पूजा से विमुख नहीं होंगे।

पश्चिमी दिल्ली से भाजपा के प्रत्याशी प्रवेश वर्मा भी मां की आराधना करते हैं। उनके दाएं हाथ पर बारह मास कलावा बंधा रहता है। इतना ही नहीं इसी सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी महाबल मिश्रा तो प्रत्येक नवरात्र के दौरान भगवती की पूजा के लिए एक अनुष्ठान तक कराते हैं। इस बार भी उन्होंने इसकी तैयारी की है। 

चांदनी चौक से भाजपा प्रत्याशी डा. हर्षवर्धन नवरात्र पर पूजा आराधना तो करते हैं लेकिन इस बार वह व्रत रख पाएंगे, इसमें संदेह है। उनके करीबी लोगों का कहना है कि दिन निकलने के बाद से देर रात तक चलने वाले चुनाव प्रचार में वैसे भी खाली पेट रहना ठीक नहीं होगा। हर्षवर्धन तो वैसे भी एक डाक्टर है और वह इस बात को अच्छी तरह से समझते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You