राह आसान बनाएगी डी.एम.आर.सी.

  • राह आसान बनाएगी डी.एम.आर.सी.
You Are HereNcr
Monday, March 31, 2014-3:56 PM

नई दिल्ली : यात्रियों का सफर आसान करने वाली दिल्ली मैट्रो उन्हें सुरक्षित सड़क पार कराने में भी जुट गई है। लोगों को सड़क पार करने में किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए डी.एम.आर.सी. (दिल्ली मैट्रो रेल निगम) इन दिनों नई और विस्तार लाइनों पर तैयार होने वाले सब-वे को विशेष तकनीक से तैयार कर रही है। 

खास बात यह है कि इस सब-वे को तैयार करने में सड़क यातायात में न तो कोई बाधा पहुंचाई जाती है और न ही इसमें बदलाव किया जाता है क्योंकि डी.एम.आर.सी. सब-वे को बॉक्स पुशिंग तकनीक के माध्यम से तैयार कर रही है। 

मोती बाग में इस तकनीक पर निर्माण मई से पूरी तरह से आरंभ होगा और अगले 9 माह में इसे तैयार कर लिया जाएगा। इससे पूर्व आई.टी.ओ. पर पहले से ही इस तकनीक को अपनाया गया है।

जमीन काटने की जरूरत नहीं

व्यस्ततम इलाके आई.टी.ओ., दिल्ली गेट, लाल किला, मोती बाग, आई.एन.ए., डाबरी मोड़, पंचशील पार्क, चिराग दिल्ली या रिंग रोड से जुडऩे वाले इलाकों में लोगों को अक्सर सड़क पार करके मैट्रो स्टेशन तक पहुंचने में परेशानी पेश आती है। एेसे में तीसरे चरण में मैट्रो प्रबंधन न केवल स्टेशनों को सब-वे से जोड़ रही है, बल्कि स्टेशन और सब-वे इस माध्यम से तैयार कर रही है कि सड़क की खुदाई कम से कम करनी पड़े।

डी.एम.आर.सी. प्रवक्ता अनुज दयाल के अनुसार आई.टी.ओ. के बाद अब मोती बाग में 70 मीटर लंबा सब-वे तैयार करने के लिए बॉक्स पुशिंग तकनीक को अपनाया जा रहा है। इस तकनीक में जमीन की बड़ी खुदाई करने की आवश्यकता नहीं रहती है। निर्माण भी अपेक्षाकृत कम समय में पूरा हो जाता है। मोती बाग मैट्रो स्टेशन को जोडऩे वाला सब-वे तैयार करने का कार्य आरंभ किया गया है। यह राव तुलाराम मार्ग और रिंग रोड को जोड़ेगा।

बॉक्स पुशिंग तकनीक 

इस तकनीक में पहले से बने हुए प्री-फैब बॉक्स को एक स्थान से जमीन के नीचे उतारा जाता है, फिर उसे आगे धकेला जाता है। इसमें जमीन के बड़े हिस्से को खोदने की आवश्यकता नहीं होती है। बल्कि जमीन को काटकर आगे बढऩे से पूर्व जमीन को कवर किया जाता है, ताकि ऊपर से मिट्टी अथवा सड़क नीचे नहीं धंसे और जमीन के नीचे आराम से निर्माण कार्य पूरा हो सके।

यहां भी बनेंगे सब-वे

बॉक्स पुशिंग से बनेंगे डाबरी मोड़, पंचशील पार्क, चिराग दिल्ली, नेहरू प्लेस (जनकपुरी पश्चिम-बॉटेनिकल गार्डन) पर सब-वे। वहीं मुकुंदपुर-शिव विहार कॉरीडोर पर बनेगा मोतीबाग, आई.एन.ए. मार्कीट सब-वे। इसके बाद दिल्ली गेट व अंबेडकर स्टेडियम को जोडऩे के लिए बनेगा। जामा मस्जिद के समीप तथा लाल किले के समीप 5वां सब-वे प्रस्तावित है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You